भारत

लालू यादव के समधी के घर चली 16 घंटे छापेमारी, बक्सा भर दस्तावेज ले गई ED

गाजियाबाद: गाजियाबाद (Ghaziabad) में लालू यादव (Lalu Yadav) के समधी जितेंद्र यादव (Jitendra Yadav) के घर ED की जांच 16 घंटे तक चली।

शुक्रवार सुबह 8 बजे शुरू हुई जांच-पड़ताल रात 12 बजे जाकर पूरी हुई। ED टीम तीन बड़े बॉक्स में Documents भरकर अपने साथ ले गई है।

हालांकि ED ने अभी तक इस कारवाई को लेकर आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है।

लालू यादव के समधी के घर चली 16 घंटे छापेमारी, बक्सा भर दस्तावेज ले गई ED Lalu Yadav's brother-in-law's house was raided for 16 hours, ED took a box full of documents

परिवार के सभी सदस्यों के फोन कब्जे में

सूत्रों ने बताया कि ED टीम को जितेंद्र यादव के घर से कुछ संदिग्ध दस्तावेज मिले हैं। इनके संबंध में परिवार के सदस्यों से पूछताछ चल रही है। कहा जा रहा है कि टीम को कुछ संदिग्ध हाथ लगा है।

गौरतलब है कि बिहार में लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल में हुए लैंड फॉर जॉब स्कैम (Land for Job Scam) से जुड़े मामले में अब उनके करीबियों के यहां ED की कार्रवाई चल रही है।

गाजियाबाद के RDC राजनगर में लालू के समधी जितेंद्र यादव रहते हैं। ED की टीम तीन गाड़ियों में शुक्रवार सुबह 8 बजे जितेंद्र यादव के आवास पर पहुंची थी। ED की टीम ने परिवार के सभी सदस्यों के फोन अपने कब्जे में लिए थे।

लालू यादव के समधी के घर चली 16 घंटे छापेमारी, बक्सा भर दस्तावेज ले गई ED Lalu Yadav's brother-in-law's house was raided for 16 hours, ED took a box full of documents

जितेंद्र यादव समाजवादी पार्टी के नेता हैं

लालू यादव के चौथे नंबर की बेटी रागिनी की शादी साल-2012 में जितेंद्र यादव के बेटे राहुल यादव से हुई थी। जितेंद्र यादव समाजवादी पार्टी (SP) के नेता हैं और पूर्व MLC हैं।

उनके बेटे राहुल यादव ने SP के टिकट पर साल-2017 और 2022 का विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) बुलंदशहर जिले की सिकंदराबाद विधानसभा सीट से लड़ा था, लेकिन दोनों बार हार हुई।

विधानसभा चुनाव के वक्त दाखिल हलफनामे के मुताबिक, राहुल के पास करीब 25 करोड़ रुपए की संपत्ति है। राहुल गाजियाबाद में एक रेस्टोरेंट (Restaurant) भी चलाते हैं, इसमें रागिनी भी उनका हाथ बंटाती हैं।

करीब 5 साल पहले राहुल यादव के खाते से एक करोड़ रुपए राबड़ी देवी के खाते में ट्रांसफर हुए थे, उस वक्त भी उनसे एजेंसियों ने पूछताछ की थी।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker