ड्रैगन को डोनाल्ड ट्रंप ने फिर घेरा, कहा- वुहान के लैब से आया कोरोना वायरस

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को लेकर शुरू से ही चीन पर हमलावर रहे अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर से ड्रैगन पर हमला बोला है। डोनाल्ड ट्रंप ने फिर दोहराया कि कोरोना वायरस, चीनी वायरस है जो वुहान के लैब से आया।

उन्होंने कहा कि अमेरिका और दुनिया में कोरोना से जो तबाही हुई है, उसके लिए चीन को 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर का भुगतान करना चाहिए।

बता दें कि दुनिया में पहली बार चीन के वुहान शहर में ही कोरोना का केस पाया गया था।

फेसबुक- ट्विटर जैसी सोशल मीडिया कंपनियों से बैन झेल रहे डोनाल्ड ट्रंप ने एक बयान जारी किया है।

समाचार एजेंसी के मुताबिक, उन्होंने लिखा, ‘अब हर कोई, यहां तक ​​कि तथाकथित ‘दुश्मन’ ने भी यह कहना शुरू कर दिया कि डोनाल्ड ट्रंप वुहान लैब से निकले चीनी वायरस के बारे में सही थे। चीन को अमेरिका और दुनिया को कोरोना से मौत और विनाश के लिए 10 ट्रिलियन डॉलर का भुगतान करना चाहिए।

बता दें कि दुनियाभर के ज्यादातर विशेषज्ञों को कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर चीन पर शक है।

इतना ही नहीं, अब बाइडन प्रशासन और ब्रिटेन समेत भारत ने भी कोरोना वायरस की नए सिरे से जांच की मांग की है और विश्व स्वास्थ्य संगठन पर दवाब बनाया है।

बता दें कि सबसे पहले वुहान शहर में ही कोरोना का केस मिला था और उसके बाद पूरी दुनिया में फैल गया था।

इधर, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपना ब्लॉग स्थायी रूप से बंद कर दिया है।

फेसबुक और ट्विटर सहित विभिन्न सोशल मीडिया कंपनियों द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के बाद ट्रंप इसी वेबपेज के जरिए अपने तीखे भाषणों और बयानों को साझा करते थे।

उनके प्रवक्ता जेसन मिलर ने मिलर ने कहा, ‘यह हमारे व्यापक प्रयासों के लिए सिर्फ सहायक था और हम काम कर रहे हैं वेबपेज वापस नहीं आएगा।

उन्होंने कहा कि जल्द ही व्यापक प्रयासों के बारे में अधिक जानकारी मिलने की उम्मीद है, लेकिन उन्हें समय के बारे में सटीक जानकारी नहीं है।

यह पूछे जाने पर कि, क्या यह कदम 74 वर्षीय ट्रंप द्वारा किसी अन्य सोशल मीडिया मंच से जुड़ने के लिए पहला कदम है, मिलर ने कहा, ‘हाँ, वास्तव में, ऐसा ही है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button