दिल्ली में पांच हजार युवाओं को हेल्थ असिस्टेंट की ट्रेनिंग देगी केजरीवाल सरकार

नई दिल्ली: दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। भारत में भी इसके आने की प्रबल संभावना है।

ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि सरकार ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है।

उन्होंने कहा कि सरकार 5,000 हेल्थ असिस्टेंट को ट्रेनिंग देगी जो डॉक्टरों के साथ काम करेंगे। कॉन्फ्रेंस में सीएम ने कहा कि सरकार ने तीसरी लहर की तैयारी पूरी कर ली है।

हम 5,000 हेल्थ असिस्टेंट को ट्रेनिंग देंगे। 500-500 के बैच में युवाओं को ये ट्रेनिंग 28 जून से दी जाएगी। 17 जून तक युवा इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इसके लिए आवेदन करने वाले कम से कम 12वीं पास और 18 साल से अधिक उम्र के हों। केजरीवाल ने कहा, ‘पहली और दूसरी लहर में, हमने मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की कमी देखी गई।

इसलिए सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है कि 5,000 हेल्थ असिस्टेंट तैयार किए जाएं। आईपी ​​यूनिवर्सिटी के ऊपर 2 हफ्ते में 5,000 युवाओं को ट्रेनिंग देनी की जिम्मेदारी है।

उन्हें दिल्ली के 9 प्रमुख चिकित्सा संस्थानों में बुनियादी प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘ट्रेनिंग पाने वाले युवा डॉक्टर-नर्स के असिस्टेंट के रूप में काम करेंगे।

उन्हें नर्सिंग, पैरामेडिक्स, जीवन रक्षक, प्राथमिक चिकित्सा और घरेलू देखभाल के क्षेत्र में बुनियादी ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए युवा 17 जून तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

वहीं 28 जून से ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी। योग्य उम्मीदवारों का 12वीं पास और 18 वर्ष से ऊपर की आयु का होना जरूरी है।

Back to top button