सरकार का बुनकरों, कारीगरों को ई-कॉम प्लेटफॉर्म से जोड़ने पर जोर

नई दिल्ली: केंद्रीय कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को बुनकरों को हथकरघा और हस्तशिल्प क्षेत्रों से जोड़ने की जरूरत पर जोर देते हुए इन क्षेत्रों के लिए बनीं योजनाओं को कार्यरूप देने पर अधिक ध्यान देने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि कारीगरों को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म और प्रौद्योगिकी का लाभ उठाना चाहिए।

कपड़ा मंत्रालय, उसके स्वायत्त निकायों और उसके प्रशासनिक नियंत्रण वाले सार्वजनिक उपक्रमों के कामकाज की समीक्षा बैठक के दौरान गोयल ने प्रक्रियाओं के और सरलीकरण की जरूरत पर जोर दिया और पारदर्शिता के लिए एक प्रभावी ऑनलाइन डैशबोर्ड-आधारित निगरानी प्रणाली बनाने का आह्वान किया।

गोयल ने अधिकारियों को उपभोक्ता खर्च में बुनकरों/कारीगरों की हिस्सेदारी बढ़ाने के आदर्श वाक्य के साथ काम करने को कहा जैसा कि अमूल ने दूध उत्पादकों के लिए किया है।

मंत्री ने अधिकारियों को मंत्रालय की कौशल विकास पहल समर्थ को ठीक से लागू करने की सलाह दी।

उन्होंने बेहतर परिणामों के लिए प्रभावी निगरानी के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग पर जोर दिया।

उन्होंने टेक्सटाइल के लिए पीएलआई योजना के कार्यों की भी समीक्षा की और पीएम मित्र के लिए योजना दिशानिर्देशों को शीघ्रता से अंतिम रूप देने के निर्देश दिए, ताकि राज्य सरकारों से प्रस्ताव आमंत्रित किए जा सकें।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button