झारखंड

इस वजह से हुआ था पलामू के डॉक्टर रहमान का किडनैप, SP रीष्मा रमेशन ने…

जिले के हुसैनाबाद (Hussainabad) के ग्रामीण चिकित्सक मो. फिरोज खान उर्फ डॉक्टर रहमान का अपहरण करने के बाद अपहर्ता डालटनगंज (Daltonganj) में उसे छुपा कर रखे थे।

Doctor Rehman of Palamu was Kidnapped: जिले के हुसैनाबाद (Hussainabad) के ग्रामीण चिकित्सक मो. फिरोज खान उर्फ डॉक्टर रहमान का अपहरण करने के बाद अपहर्ता डालटनगंज (Daltonganj) में उसे छुपा कर रखे थे।

चार दिनों के अनुसंधान के दौरान तकनीकी सहायता से Daltonganj के हाउसिंग कॉलोनी इलाके से छापामारी कर उसे बरामद किया गया। पुलिस ने अपहरण कांड में शामिल सात अपराधियों में से तीन को गिरफ्तार किया है।

एक अपराधी अभय कुमार सिंह उर्फ मीकू (22) डालटनगंज के Hamidganj BN College Road का निवासी है और उसका अपना घर बिश्रामपुर के नवगढ में है।

दूसरा आरोपित प्रिंस कुमार सिंह उर्फ चीकू सिंह (21) है, जबकि तीसरे आरोपित की पहचान चंदन कुमार सिंह (21) के रूप में हुई है। चंदन और प्रिंस हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के क्रमशः मुबारकपुर एवं ऊपरीकला करमाही का निवासी हैं।

फरार आरोपियों में दिग्विजय सिंह उर्फ डिक्कू सिंह, अभिषेक पासवान, संकेत एवं एक अन्य शामिल हैं। डॉक्टर को दिग्विजय सिंह उर्फ डिक्कू सिंह के घर में रखा गया था। डॉक्टर को 2 करोड रुपए फिरौती के लिए अपहरण किया गया था।

डॉक्टर के अपहरण की प्लानिंग प्रिंस ने बनाई थी, जबकि अभय अन्य साथियों के साथ मिलकर क्लीनिक से पेट दर्द से पीड़ित रोगी देखने के बहाने डॉक्टर को गाड़ी तक बुलाकर अपहरण कर लिया था।

शुक्रवार की शाम जिले की SP रीष्मा रमेशन ने अपहरण कांड का उदभेदन करते हुए जानकारी दी कि घटना में शामिल अपराधी बिहार में शराब तस्करी कांड में भी शामिल रहे हैं।

शराब तस्करी के दौरान एक शराब व्यवसायी का अपहरण कर लिया था और उसे झारखंड में लाकर 50 हजार की फिरौती वसूली थी। इस घटना के बाद से उनके हौसले बुलंद हो गए थे और डॉक्टर रहमान की प्रेक्टिस को देखते हुए अगवा करने की योजना बनाई।

हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के राजटोली वार्ड नंबर 9 के निवासी डॉ रहमान के बारे में स्थानीय होने के कारण प्रिंस पूरी जानकारी रखता था और उसने ही अपहरणकांड की प्लानिंग की थी।

उसने अपने साथ चंदन, अभय सहित अन्य को मिलाया और फिर 26 फरवरी की शाम रोगी देखने के बहाने डॉक्टर के क्लीनिक के पास पहुंचा और झांसे में लेकर डॉक्टर का अपहरण किया और उसे लेकर Daltonganj में किराया के मकान पर रखा। अपहरण करने के बाद कुछ अपराधी कार से निकले, जबकि बाइक सवार प्रिंस पुलिस की गतिविधियों की जानकारी देते हुए उनके साथ निकला।

अपहरण की घटना के अगले दिन 27 फरवरी को पूर्वाहन 11 बजे डॉक्टर के ही मोबाइल से फोन कर दो करोड रुपए की डिमांड की गई और अपहरणकर्ताओं का यह अंतिम कॉल रहा। उसके बाद उन्हें पुलिस ने दोबारा कॉल करने का मौका ही नहीं दिया।

हुसैनाबाद SDPO मुकेश महतो के नेतृत्व में हुसैनाबाद के अलावा टाउन थाना की पुलिस ने कार्रवाई करते हुए डॉक्टर को बरामद किया।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker