रांची वीमेंस कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर को CBI की विशेष कोर्ट से लगा झटका

रांची: लेक्चरर नियुक्ति मामले में आरोपित सुनीता केरकेट्टा को सीबीआई CBI कोर्ट ने राहत देने से इंकार कर दिया।

सीबीआई CBI कोर्ट के विशेष न्यायाधीश एके मिश्रा ने दोनों पक्षों की ओर से बहस पूरी होने के बाद सुनीता की जमानत याचिका खारिज कर दी।

रांची सीबीआई CBI की विशेष कोर्ट में वीमेंस कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर सुनीता केरकेट्टा की जमानत याचिका पर बुधवार को सुनवाई हुई।

उल्लेखनीय है कि वीमेंस कॉलेज रांची में 09 मार्च को सीबीआई CBI की टीम ने छापेमारी की थी।

कार्रवाई लेक्चरर नियुक्ति घोटाले मामले को लेकर हुआ था। सीबीआई CBI  ने महिला प्रोफेसर सुनीता केरकेट्टा को हिरासत में लिया था।

इसके बाद उन्हें सीबीआई CBI कोर्ट में पेश किया गया था। कोर्ट ने सुनीता को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। वह अंग्रेजी की शिक्षिका है। वर्ष 2008 में उनकी नियुक्ति हुई थी।

इस मामले में सीबीआई CBI ने 01 अक्टूबर, 2019 को लेक्चरर नियुक्ति घोटाले की जांच पूरी करने के बाद कुल 69 लोगों पर चार्जशीट दायर किया था।

इनमें जीपीएससी JPSC के पांच अधिकारी, 59 परीक्षार्थी और पांच परीक्षक शामिल हैं। पूरा मामला केस संख्या आरसी 4/13 से जुड़ा है। साल 2008 में जेपीएससी ने 745 लेक्चरर की बहाली के लिए जेट परीक्षा का आयोजन किया था।

 इसमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार का मामला उजागर हुआ।

मामले की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार ने केस को सीबीआई CBI को सौंप दिया था। सीबीआई CBI की जांच में 13 विषयों में लेक्चरर के पद पर बहाली में भ्रष्टाचार की पुष्टि हुई थी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button