झारखंड : अंधेरी रात में अचानक तेज रौशनी हुई तो मां की खुली आंख, देखा पास की गली में जल रही है बेटी

दुमका: शिकारीपाड़ा के कजलादाहा गांव से रौंगटे खड़े करने वाला एक मामला सामने आया है, जहां अंधेरी रात में अचानक तेज रौशनी हुई तो मां की खुली आंख और देखा कि पास की गली में उसकी किशोरी अवस्था की बेटी जल रही है।

किशोरी की मां की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने अनुसंधान शुरू कर दिया।

वहीं, पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने स्वजन को शव सौंप दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या के बाद शव जलाने की बात सामने आई है।

हत्यारों ने केरोसिन डाल कर शव को जला दिया। हत्या के दौरान किशोरी के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया ताकि वह शोर नहीं मचा सके।

रविवार की सुबह घर की तरफ जाने वाली गली से किशोरी का अधजला शव बरामद किया गया।

हत्या का सुराग पाने के लिए पुलिस ने खोजी कुत्ते का सहारा लिया। कुत्ता सिर्फ घर के आंगन तक गया।

पुलिस को आशंका है कि किसी करीबी ने ही किशोरी को मारा है।

पिता की दस साल पहले ही हो चुकी है मौत

किशोरी के पिता की दस साल पहले ही मौत हो चुकी है। घर में विधवा मां और एक भाई रहता है।

भाई अक्सर घर से बाहर ही रहता है। घटना की रात किशोरी घर के आंगन में खाट पर और मां जमीन पर सो रही थी।

रात को हत्यारे घर से उठाकर बगल की गली में ले गए। मारने के बाद केरोसिन डालकर आग लगा दी।

रोशनी होने पर मां ने आकर देखा तो किशोरी जल रही थी। रात को ही उन्होंने पुलिस को सूचना दी गई।

रविवार की सुबह थाना प्रभारी सुशील कुमार गए। मां ने पुलिस को बताया कि रात को क्या हुआ, पता नहीं है।

रोशनी होने पर गली में आकर देखा तो बेटी जल रही थी। डीएसपी विजय कुमार खोजी कुत्ता के साथ गए। कुत्ता घर के अंदर आंगन में जाकर रूक गया।

आंगन में भी किरोसिन गिरा होने का प्रमाण मिला है। पुलिस को कई तरह के शक है।

मामले में डीएसपी दुमका विजय कुमार ने बताया है कि प्रारंभिक अनुसंधान में ऐसा लगता है कि परिवार के लोग ही इसमें शामिल है।

दुष्कर्म से भी इन्कार नहीं किया जा सकता। किशोरी को खाट में उठाकर गली में लाया गया।

मारने के बाद शव को जलाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही सच सामने आ जाएगा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button