रांची उपायुक्त ने तूफान “यास” को लेकर विद्युत विभाग, नगर निगम को सतर्क रहने का दिया निर्देश, कंट्रोल रूम भी एक्टिव ; जारी किया नंबर

रांची: चक्रवाती तूफान यास के मद्देनजर जिला में व्यापक तैयारी को लेकर मंगलवार को उपायुक्त छवि रंजन ने आपदा प्रबंधन समिति के संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में उपायुक्त ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों तूफान से होने वाली क्षति के मद्देनजर तैयारियों को लेकर पदाधिकारियों को व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बैठक के दौरान उपायुक्त ने बताया कि तूफान के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज सुचारू रूप से चलता रहे इसके लिए ऑक्सीजन रिफिलिंग स्टेशन से बातचीत की गई है, उन्हें यास के मद्देनजर आवश्यक बैकअप रखने का निर्देश दिया गया है।

उपायुक्त ने कहा कि कहा कि इस दौरान निर्बाध बिजली आपूर्ति की व्यवस्था का भी प्रयास है, आकस्मिक कारणों से बिजली आपूर्ति प्रभावित होने की स्थिति में सभी ऑक्सीजन रिफिलिंग स्टेशन बैकअप तैयार रखें।

उपायुक्त ने बताया कि सदर अस्पताल और रिसालदार सीएचसी में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर का बैकअप तैयार कर लिया गया है। इन दोनों स्थानों के लिए 48 घंटे का बैकअप तैयार किया गया है।

विद्युत विभाग के अधिकारी सतर्क रहें :डीसी

बैठक के दौरान विद्युत विभाग के कार्यपालक अभियंता भी मौजूद थे। उपायुक्त ने अधिकारियों को तूफान के मद्देनजर सतर्क रहने का निर्देश दिया।

विभाग के अधिकारियों द्वारा बनाया बताया गया कि तूफान के दौरान किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए टीम बनाई गई है।

सभी टीमें अलर्ट हैं और इनके साथ पदाधिकारियों को भी टैग कर दिया गया है। कहीं भी पोल या तार टूट जाने की स्थिति पर टीम तुरंत एक्टिव होगी।

उपायुक्त ने कहा कि तूफान के दौरान बिजली से होने वाली दुर्घटना से किसी की मौत ना हो, यह सुनिश्चित करें।

नगर निगम के अधिकारियों को भी निर्देश

उपायुक्त ने तूफान से होने वाली क्षति की आशंका को देखते हुए शहरी क्षेत्र में रांची नगर निगम के अधिकारियों को भी सचेत रहने को कहा।

उन्होंने कहा कि कहीं भी पेड़ गिर जाने या फिर मवेशी की मौत पर अधिकारी फौरन एक्टिव हो।

ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए अस्थाई शेल्टर होम

तूफान यास के देखते हुए जिला के सभी प्रखंडों में अस्थाई शेल्टर होम बनाए गए हैं।

संबंधित अंचल अधिकारी द्वारा शेल्टर होम में लोगों के रहने, खाने-पीने इत्यादि की व्यवस्था की गई है।

साथ ही उपायुक्त के निदेश पर रांची के अनुमंडल पदाधिकारी एवं बुंडू की ओर से लगातार क्षेत्र का भ्रमण किया जा रहा है। शेल्टर होम की मॉनिटरिंग भी पदाधिकारियों की ओर से की जा रही है।

आपूर्ति विभाग को भी तैयार रहने का निर्देश

उपायुक्त ने बैठक के दौरान खाद्य आपूर्ति विभाग को भी तैयार रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि आकस्मिक कोष से की जाने वाली खाद्यान्न आपूर्ति व्यवस्था दुरुस्त रखें।

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्यकता पड़ने पर लोगों को आकस्मिक खाद्यान्न कोष से खाद्यान्न उपलब्ध कराने का निदेश उन्होंने दिया।

कंट्रोल रूम भी एक्टिव, 0651-2207784 पर करें कॉल

तूफान के दौरान विधि- व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए कंट्रोल रूम भी पूरी तरह से एक्टिव है। कंट्रोल रूम में मजिस्ट्रेट को अलर्ट रहने का निदेश दिया गया है।

उपायुक्त ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में कम्युनिकेशन गैप ना हो। विधि व्यवस्था से संबंधित किसी प्रकार की जानकारी देने के लिए रांची वासी 0651-2207784 पर कॉल कर सकते हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button