झारखंड में गरीबों को अनाज मुहैया कराने की व्यवस्था फेल: नवीन जायसवाल

रांची: भाजपा के प्रदेश मंत्री सह हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने हेमंत सरकार पर जमकर हमला बोला है।

उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार बनने के बाद से झारखंड में हरा कार्ड बनाने की मुहिम चली, जिसके तहत लाभुकों प्रति व्यक्ति एक रुपये में पांच किलो अनाज मिलता है लेकिन हकीकत यह है कि इसमें भी घोटाले हैं।

हर दिन सैकड़ों लोग आते हैं और कहते हैं कि इस योजना के जरिए सरकार ने हमें ठग लिया। जायसवाल मंगलवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि हरा कार्ड का फायदा आयुष्मान योजना और बच्चों की पढ़ाई जैसी योजनाओं में नहीं हो सकता है।

रघुवर सरकार ने पीला और गुलाबी कार्ड की योजना को शुरू किया था, जिसे इस सरकार ने अवरुद्ध करने का काम किया।

उन्होंने कहा कि झारखंड में गरीबों को अनाज मुहैया कराने की व्यवस्था फेल हो चुकी है। राज्य में गरीबों का पेट नहीं भर रहा है बल्कि सरकारी अनाज डीलर, अफसर और सरकार के पेट भर रहे हैं।

सरकार ने हरा कार्ड बनाकर गरीबों के साथ गंदा मजाक किया है। इससे उन्हें कोई फायदा नहीं हो रहा है।

उन्होंने कहा कि लाभुकों को उनका हक नहीं मिल रहा है। हर बार 15 नवंबर को धान क्रय केंद्र खुलता था, लेकिन इस बार 15 दिसंबर को खुला है।

किसानों के पास धान को रखने की जगह नहीं है। ऐसे में 90 फ़ीसदी किसानों ने दस-12 रुपये में अपने धान बिचौलियों को बेच दिया।

उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में भी घोटाले का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि झारखंड सरकार पहले दिन से इस योजना में घोटाला कर रही है। लाभुकों को पांच किलो ही अनाज मिल रहा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button