जनवरी में वाहनों की खुदरा बिक्री 10 प्रतिशत गिरकर 15,92,636 इकाई रही

मुंबई: देश में वाहनों की खुदरा बिक्री जनवरी 2021 के दौरान तकरीबन 10 प्रतिशत गिरकर 15,92,636 इकाई (दोपहिया, तिपहिया, यात्री वाहन, व्यावसायिक वाहन और ट्रैक्टर) रह गई है, जबकि एक साल पहले वाहनों की खुदरा बिक्री 17,63,011 इकाई थी।

मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान दिसंबर में पहली बार खुदरा बिक्री बढ़ी थी। जनवरी में आई गिरावट के पीछे कारण सेमी-कंडक्टर की कमी, मूल्य वृद्धि, कमजोर मांग सहित अन्य वजह शामिल हैं।

जनवरी 2021 में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री सालाना आधार पर तकरीबन 4.5 प्रतिशत तक गिरकर 2,81,666 इकाई रह गई, जबकि जनवरी 2020 में यह 2,94,817 इकाई थी।

पिछले महीने दोपहिया वाहनों की बिक्री 8.78 प्रतिशत गिरकर 11,63,322 इकाई रह गई, जबकि जनवरी 2020 में यह 12,75,308 इकाई थी।

व्यावसायिक वाहन की बिक्री भी 24.99 प्रतिशत फिसलकर 55,835 इकाई रह गई, जबकि एक साल पहले यह 74,439 इकाई थी।

इस प्रकार पिछले महीने तिपहिया वाहनों की बिक्री भी 51.31 प्रतिशत घटकर 31,059 इकाई रह गई, जो एक साल पहले की अवधि में 63,785 इकाई थी।

फाडा के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने कहा कि दिसंबर में एकमात्रा वृद्धि नजर आने के बाद जनवरी में एक बार फिर वाहनों के पंजीकरण में सालाना आधार पर 10 प्रतिशत तक की गिरावट आई है।

गुलाटी ने कहा कि वाहन उद्योग ने साफ तौर पर उस मांग को गलत समझ लिया था, जिसकी वापसी लॉकडाउन के बाद हुई थी।

उद्योग द्वारा कोविड के बाद मजबूती को कम आंकने के साथ-साथ चिप विनिर्माताओं द्वारा अधिक बिक्री और ज्यादा आकर्षक उपभोक्ताओं को तरजीही देने से इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार ने सेमीकंडक्टरों के लिए एक निर्वात पैदा कर दिया था।

इसके परिणामस्वरूप सभी श्रेणियों के वाहनों के लिए आपूर्ति में कमी हो गई, खास तौर पर यात्री वाहनों के लिए, हालांकि पूछताछ का स्तर और बुकिंग अधिक बनी रही।

नए वाहनों की शुरुआत और एसयूवी में अधिक आकर्षण दिखता रहा और इससे यात्री वाहनों के कुल पंजीकरण में भारी अंतर से गिरावट रोकने में मदद मिली।

Back to top button