खरना अनुष्ठान के बाद व्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू

नहाय-खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व छठ शुरू

खूंटी: लोक आस्था का महापर्व छठ नहाय-खाय के साथ सोमवार से शुरू हो गया है। व्रतियों ने भगवान सूर्य की पूजा-अर्चना और कद्दू भात को भोग अर्पण कर प्रसाद ग्रहण किया।

मंगलवार को खरना अनुष्ठान के बाद व्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो जायेगा।

बुधवार को अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को पहला अर्घ्य प्रदान किया जायेगा। गुरुवार को उदीयमान सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने के साथ ही महापर्व का समापन हो जायेगा।

जिला मुख्यालय के राजा तालाब, साहू तालाब, चौधरी तालाब, तजना नदी के अलावा अन्य जलाशयों में भी छठ को लेकर भारी भीड़ उमड़ती है।

इसके अलावा तोरपा, कर्रा, रनिया, अड़की, मुरहू सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में भी छठ महापर्व को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में हैं। सभी छठ घाटों पर विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है।

व्रतियों और भक्तों की सुविधा के लिए छठ घाटों और घाट जाने वाले रास्तों को बिजली और अन्य साधनों से आकर्षक रूप से सजाया जा रहा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button