देश में 2021 में तीसरी बार कोरोना केस 20,000 के पार

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक गुरुवार को देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के 22854 नए मामले सामने आए हैं।

इसी के साथ देश में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 11285561 पहुंच गया है।

बता दें कि इस साल यह तीसरा मौका है जब देश में कोरोना के 20000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं।

इससे पहले जनवरी 2021 के पहले सप्ताह में दो दिन देशभर में 20 हजार से अधिक नए मामले सामने आए थे।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सक्रिय मामलों की संख्या में 4628 की बढ़ोतरी हुई है।

फिलहाल देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 189226 के एक्टिव केस हैं।

वहीं पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 126लोगों की मौत होने के बाद यह आंकड़ा 158189 पहुंच गया है।

 देशभर में अभी तक 10938146 लोगों को छुट्टी मिल चुकी हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना के ताजा मामले छह राज्य महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु से आए हैं, जहां कुल केसों के 83.76 फीसदी मामले सामने आए हैं।

देश में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आ रहे हैं। पहले भी कोरोना केसों के मामले पर महाराष्ट्र पहले नंबर पर था।

बुधवार को राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के इस साल एक दिन में सबसे अधिक 13659 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 2252057 हो गई है।

स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 54 और रोगियों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 52610 हो गई है। राज्य में पिछले साल आठ अक्टूबर को कोरोना वायरस संक्रमण के 13,395 मामले सामने आए थे।

उसके बाद से संक्रमण के दैनिक मामलों में गिरावट देखी जा रही थी।

बुधवार को 9913 लोगों के ठीक होने के बाद संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या 2099207 हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देशभर में कोरोना टेस्ट का कुल आंकड़ा 22 करोड़ को पार कर गया है।

वहीं, डेली पॉजिटिव रेट 2.43 प्रतिशत रही है। वहीं, देशभर में कोरोना टीकाकरण 2.5 करोड़ को पार कर गया है।

बुधवार शाम को 9.22 लाख डोज लगाए गए। एक रिपोर्ट के अनुसार बुधवार शाम तक 2,52,89,693 वैक्सीन की खुराक दी गई।

इनमें 71,70,5198 स्वास्थ्य देखभाल कर्मी और अग्रिम मोर्चे के 70,31,147 कर्मचारी शामिल हैं जिन्हें पहली खुराक दी गई है। जबकि 39,77,407 हेल्थकेयर और 5,82,118 फ्रंटलाइन वर्कर्स।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button