हजारीबाग पुलिस पहुंची जम्मू, गिरफ्तार शूटर को लेगी रिमांड पर

हजारीबाग/रांची: गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव की हत्या में शामिल शूटर अवतार सिंह को जम्मू के आरएस सेक्टर से गिरफ्तार किया गया है। उसे लाने के लिए हजारीबाग पुलिस जम्मू पहुंच गयी है। हजारीबाग पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर झारखंड आएगी।

शूटर अवतार सिंह ने 02 जून, 2015 को दिनदहाड़े गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव को हजारीबाग कोर्ट परिसर में गोली मारी थी। वह पूर्व में पैरा मिलिट्री फोर्स का जवान भी रहा है। इसके एक और साथी की तलाश की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव और भोला पांडेय गिरोह 1990 के दशक में काफी सक्रिय था। इनके निशाने पर झारखंड के कई जिलों के कोयला कारोबारी थे।

वसूली के इस धंधे में पाडेय गिरोह के बढ़ते वर्चस्व को देखते हुए सुशील श्रीवास्तव गैंग ने एक-एक कर पांडेय गैंग के कई- गुर्गों को मारा था।

इसी दौरान 2006 में विकास तिवारी, भोला पांडेय और उसके भाई किशोर पांडेय के संपर्क में आकर गिरोह से जुड़ा। विकास ने आते ही सुशील श्रीवास्तव गैंग के गुर्गे लालतू की हत्या कर दी। फिर पुलिस ने 2008 में उसे गिरफ्तार कर लिया।

डेढ़ साल जेल में रहने के बाद जब वह बाहर निकला तो पांडेय गैंग में उसे एक भरोसेमंद शार्प शूटर के तौर पर देखा जाने लगा, लेकिन इसी बीच श्रीवास्तव गैंग ने भोला पांडेय की हत्या कर दी।

इसके बाद विकास तिवारी और किशोर पांडे ने मिलकर श्रीवास्तव गैंग के कई लोगों की हत्या की। बदले में श्रीवास्तव गिरोह ने 2014 में जमशेदपुर में किशोर पांडेय की उस समय हत्या कर दी जब वह अपने परिवार से मिलने जा रहा था।

इसके बाद विकास को लगा कि अगर उसने सुशील श्रीवास्तव को नहीं मारा तो श्रीवास्तव गैंग उसे मार देगा।

दो जून 2015 को गोरखपुर के दो कुख्यात अपराधी प्रदीप पासवान और राज सिंह सहित अन्य के साथ मिलकर विकास ने सुशील श्रीवास्तव की हजारीबाग कोर्ट परिसर में हत्या कर दी थी।

Back to top button