झारखंड

जवान की पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म, जांच में जुटी पुलिस

रांची जिले के नामकुम प्रखंड के खरसीदाग ओपी क्षेत्र में सोमवार की देर रात 12-1 बजे सेना के जवान की पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) का मामला प्रकाश में आया है।

Gang Rape Of Army Soldier’s Wife : रांची जिले के नामकुम प्रखंड के खरसीदाग ओपी क्षेत्र में सोमवार की देर रात 12-1 बजे सेना के जवान की पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) का मामला प्रकाश में आया है।

लालखटंगा के युवक ने जानकारी दी कि मंगलवार की सुबह पांच बजे महिला की बहन का फोन आया। उन्होंने कहा कि दीदी का फोन नहीं लग रहा है। जाकर देखो।

इसके बाद जब युवक घर पहुंचा तो पीड़ित महिला ने उसे बताया कि रात में Light कटी हुई थी। रात में पानी लेने घर से बाहर निकली थी इसी दौरान उसके घर में एक युवक प्रवेश कर गया।

चार शैतानों ने की दरिंदगी

आरोपी ने महिला से कहा कि चुप रहो नहीं, तो बच्चों को मार डालेंगे। उसके बाद तीन अन्य युवकों को भी उसने घर में बुला लिया एवं सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने महिला के कपड़े फाड़ दिए एवं Mobile तोड़ डाला।

मंगलवार की सुबह पुलिस को इसकी जानकारी दी गयी। इस मामले में महिला के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। इसके बाद पुलिस ने महिला की मेडिकल जांच करायी।

ग्रामीण SP देर शाम खरसीदाग पहुंचे एवं घटनास्थल पर जाकर मुआयना किया। उनके साथ DSP मुख्यालय प्रथम अमर कुमार पांडेय एवं नामकुम थाना (Namkum Police Station) प्रभारी इंस्पेक्टर ब्रह्मदेव प्रसाद उपस्थित थे।

जल्द गिरफ्तार होंगे आरोपी

ग्रामीण SP ने बताया कि महिला की मेडिकल जांच करायी गयी है। पुलिस विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही है। जल्द मामला स्पष्ट हो जाएगा। आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी होगी।

रांची के कोकर में ही किराए पर रहता है परिवार

जानकारी के अनुसार पीड़ित महिला के पति लेह-लद्दाख में तैनात हैं। मूल रूप से खूंटी (Khunti) के कर्रा का रहनेवाला सैनिक का परिवार रांची के कोकर में ही किराए के मकान में रहता है।

अर्धनिर्मित घर में देर रात सामूहिक दुष्कर्म

सेना के जवान का परिवार रांची के लालखटंगा में जमीन खरीद कर घर बना रहा है। 10-15 दिन पहले महिला अर्धनिर्मित घर बनाने के लिए वहां रह रही थी। उसके साथ एक 6-7 साल का एवं एक चार माह का बेटा था। रात बारह से एक बजे के बीच चार युवक उनके घर में प्रवेश कर गए और सामूहिक दुष्कर्म किया।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker