झारखंड : रिम्स में इलाज के दौरान कैदी की मौत

अंकित ने कहा कि उनके पिता पर हत्या का झूठा आरोप लगाया गया था

रांची : हत्या के दो मामलों में गिरफ्तार 50 वर्षीय दीपक लकड़ा उर्फ बूचन की रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गयी। एक अक्टूबर को रिम्स में भर्ती हुए दीपक लकड़ा का इलाज मेडिसिन विभाग के आईसीयू में चल रहा था।

स्थिति गंभीर होने के बाद 20 अक्टूबर को दीपक लकड़ा को न्यू ट्रॉमा सेंटर में भर्ती किया गया था। वहां डॉ पीके भट्टाचार्य उक्त कैदी का इलाज कर रहे थे। वहीं इलाज के दौरान उस कैदी की मौत हो गयी।

मृतक दीपक लकड़ा के बेटे अंकित ने बताया कि उनके पिता पर 28 दिसंबर 2018 और 8 जनवरी 2019 को डोरंडा थाना क्षेत्र में अलग-अलग हत्या के मामले केस दर्ज किये गये थे।

एक मामले में बेल भी मिल चुकी थी। अंकित ने कहा कि उनके पिता पर हत्या का झूठा आरोप लगाया गया था। उनको सुनियोजित ढंग से फंसाया गया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button