बिच्छू के जहर में पाया जाने वाला यह तत्व आपकी इस गंभीर बीमारी का कर देगा समूल नष्ट

बिच्छू के जहर में पाए जाने वाले सैकड़ों तत्वों में से एक के जरिए पशुओं में हुई इस बीमारी की गंभीरता को कम किया जा सकता है

लाइफस्टाइल डेस्क: बिच्छू एक ऐसा जानवर हैं। जिसके जहर से हर कोई डरता है। लेकिन अगर आपको पता चले कि बिच्छू का जहर आप की बीमारी को दूर कर सकता है। तो फिर आप क्या करेंगे।

जी हां ताजा शोध के मुताबिक बिच्छू के जहर में पाए जाने वाला एक तत्व गठिया रोग से निपटने में काम आ सकता है।

बैलोर कॉलेज ऑफ मेडिसिन द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, एक दिन आएगा जब गठिया रोग से परेशान 13 लोगों की जिंदगी में सुधार की वजह से बिच्छू का डंक बनेगा डॉक्टर क्रिस्टीन बीटन के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के एक समूह ने पाया है कि बिच्छू के जहर में पाए जाने वाले सैकड़ों तत्वों में से एक के जरिए पशुओं में हुई इस बीमारी की गंभीरता को कम किया जा सकता है। और वह भी बिना किसी दुष्प्रभाव के।

उन्होंने आगे बताया कि “फाइब्रोब्लास्ट जैसी साइनोवायोसाइट्स (एफएलएस) नाम की कोशिकाएं इस रोग में प्रमुख भूमिका निभाती हैं. जैसे-जैसे वे विकसित होती हैं। और एक जोड़ से दूसरे जोड़ तक जाती हैं। ऐसे में वह उत्पादक के स्त्राव का कारण बनती हैं।

आपको बता दें कि शोध के लेखक डॉ. मार्क टैनर ने कहा कि बिच्छू के जहर में सैकड़ों तत्व ऐसे होते हैं।

जो इन तत्वों में से एक का नामबुथस टैमुलस है जो विशेषरूप से एफएलएस के पोटेशियम चैनल को अवरुद्ध करता है।

इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा है कि हमने जांच की और पाया कि इबेरिओटॉक्सिन (iberiotoxin) नामक यह जहर का तत्व, विशेष रूप से एफएलएस पोटेशियम चैनल को अवरुद्ध और रोग से प्रभावित चूहे के मॉडल में गठिया की गंभीरता को कम करने के समक्ष होगा यह अध्ययन जर्नल ऑफ फॉर्मेलॉजी एंड एक्सपेरिमेंटल थेरैप्यूटिक्स में प्रकाशित हुई है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button