ममता का नया नारा ‘खेला होबे’ अब टीएमसी पर ही भारी, भाजपा ने ‘दीदी’ के खिलाफ ही किया इस्तेमाल

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव प्रचार में नए-नए नारों गूंज है। भाजपा और टीएमसी के बीच जैसे नारों की होड़ लगी है।

यहां इन दिनों सोशल मीडिया में बुजुर्ग महिला के साथ कथित मारपीट का मामला छाया हुआ है।

ममता बनर्जी का नया नारा ‘खेला होबे’ अब तृणमूल पर ही भारी पड़ रहा है क्योंकि भाजपा इस नारे को ममता बनर्जी के खिलाफ ही इस्तेमाल कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ‘खेला होबे’ नारे का इस्तेमाल पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश की आवामी लीग पार्टी ने किया था और अब तृणमूल कांग्रेस इसका इस्तेमाल कर रही है।

मजेदार बात तो यह है कि सिर्फ तृणमूल ही इसका इस्तेमाल नहीं कर रही बल्कि भाजपा, कांग्रेस और वामदल भी इस नारे को जोर-शोर से लगा रही हैं।

कहा जा रहा है कि बंगाल में पुराना चलन फिर से शुरू हो गया है और अब ममता के दावों को भाजपा ममता पर ही आजमा रही है।

आपको ज्ञात होगा कि लोकसभा चुनाव के दरमियां कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए ‘चौकीदार चोर है’ का नारा दिया था लेकिन यह नारा कितना कारगर हुआ, यह आज सभी के सामने है।

मगर भाजपा ने मौके को भुनाते हुए ‘चौकीदार चोर है’ नारे में थोड़ा परिवर्तन कर ‘मैं भी चौकीदार हूं’ कैंपेन चलाया और लोगों ने इस कैंपेन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

इतना ही नहीं भाजपा नेताओं से लेकर पार्टी समर्थकों तक ने अपने ट्विटर अकाउंट में अपने नाम के आगे चौकीदार शब्द को शामिल कर लिया था।

तृणमूल कांग्रेस ने जब ‘खेला होबे’ नारा दिया तो भाजपा के लिए यह किसी धमकी से कम नहीं था लेकिन मौके को अच्छी तरह से भुनाने वाली भाजपा ने ‘खेला होबे’ का इस्तेमाल तृणमूल के खिलाफ ही कर दिया।

हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बंगाल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए खेला होबे नारे का जिक्र किया और उन्होंने कहा कि ममता दीदी कह रही हैं बंगाल में खेला होबे। वह सही कह रही हैं।

खेला होबे… निश्चित होबे… अब तो बंगाल में बोड़ो खेला होबे। ऐई खेला विकास का होबे, शांति का होबे।

भाजपा जहां ‘खेला होबे’ नारे को लेकर तृणमूल को ही चुनौती दे रही है तो वहीं तृणमूल ने इस शीर्षक के साथ पूरा एक गीत ही तैयार कर दिया है और इस गीत की धुन में तृणमूल के एक विधायक का नाचते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

तृणमूल के खेला होबे नारे के अलावा ‘जय बांग्ला’ पर भी विवाद है। भाजपा का कहना है कि तृणमूल का ‘जय बांग्ला’ नारा बांग्लादेश से प्रेरित है।

हालांकि, तृणमूल सांसद और ममता दीदी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने ‘सोनार बांग्ला’ के नारे पर ही सवाल खड़ा कर दिया।

उन्होंने कहा कि भाजपा का अपना नारा ‘सोनार बांग्ला’ पड़ोसी मुल्क के राष्ट्रगान का हिस्सा है।

एक और नारा है जो सबसे ज्यादा विवादों में रहा और बार-बार ममता दीदी से सवाल से पूछा गया कि आखिर उन्हें इस नारे से क्या दिक्कत है? हम बात ‘जय श्री राम’ के नारे की कर रहे हैं।

लेकिन इस नारे की एवज में तृणमूल ने अपना नारा दे दिया… ‘हरे कृष्ण हरे राम, विदा हो बीजेपी-वाम’।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button