DMRC ने अब कहा कि उसके पास विभिन्न खातों में 6,208 करोड़ रुपये नकद शेष

नई दिल्ली: दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) ने उच्च न्यायालय के समक्ष अवमानना से बचने के सोमवार को दिए एक ताजे हलफनामे में कहा है कि उसके विभिन्न बैंक खातों में 6,208 करोड़ रुपए की राशि है।

इससे पहले पांच जनवरी को दिए गए हलफनामे में दिल्ली मेट्रो ने कहा था कि उसके बैंक खातों में मात्र 1,642 करोड़ रुपए ही हैं।

लेकिन आज दाखिल नए हलफनामे के मुताबिक 3 जनवरी 2022 तक डीएमआरसी के विभिन्न बैंक खातों में 6208 करोड़ रुपये हैं।

गौरतलब है कि उच्चत्तम न्यायालय के आदेश के तहत डीएमआरसी को 7,200 रुपये की डिक्री रााशि के हिस्से के रूप में दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस लिमिटेड (डीएएमईपीएल)को 6,268 करोड़ रुपये का भुगतान करना है।

इससे पहले डीएएमईपीएल ने 7 जनवरी को दिल्ली उच्च न्यायालय में दायर एक याचिका में कहा गया था कि डीएमआरसी, 22 दिसंबर को पारित अदालत के अंतरिम आदेश का पालन करने में विफल रही है, जिसमें उसे अपने सभी बैंक खातों की जानकारी का खुलासा करने का निर्देश दिया गया था।

डीएएमईपीएल द्वारा आज दायर याचिका डीएमआरसी द्वारा पांच जनवरी को देर से दायर किए गए हलफनामे के जवाब में थी जिसमें उसने अपने बैंक खातों का आंशिक/सीमित खुलासा किया था, जो कुल 5800.93 करोड़ रुपये के फंड में से केवल 1642.69 करोड़ रुपये के संबंध में था, जिसका उसने खुलासा किया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button