झारखंड

पलामू के सिविल सर्जन Dr. कैनेडी 50 हजार घूस लेते गिरफ्तार

मेदिनीनगर: पलामू के सिविल सर्जन डा. जॉन एफ कनैडी को 50 हजार रूपए रिश्वत लेते भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की (Anti Corruption Bureau) टीम ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है।

सिविल सर्जन ने (Civil Surgeon) डेढ लाख के बिल भुगतान के एवज में एक लाख रूपए बतौर घूस मांगे थे।

इसके लिए 50 हजार रूपए की प्रथम किस्त घूस के रूप में ले रहे थे। डा. कनैडी को गिरफ्तार कर ACB कार्यालय लाया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में (Judicial Custody) भेजा जायेगा।

परिवार नियोजन का अस्पताल

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बताया है कि बिहार के औरंगाबाद न्यू एरिया निवासी गोल्डन कुमार, पिता वकील कुमार सिंह ने अपने Mobile No. के द्वारा एक आवेदन देकर बताया था कि इनकी संस्था रसियन हेल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड (Russian Health Care Private Limited) है, जिसका जिला स्वास्थ्य समिति पलामू से क्लीनिकल आउटरिच टीम (COT) का मोमोरेंडम ऑफ एन एग्रीमेंट (MOU) दो वर्षों के लिए किया गया है।

संस्था का कार्य पलामू जिले के आवंटित सरकारी अस्पतालों में परिवार नियोजन ऑपरेशन (family planning operation) कराना है।

भुगतान एवं MOU को रद्द नहीं किया जायेगा

संस्था के द्वारा अबतक किए गए कार्यों की कुल राशि एक लाख 47 हजार का बिल बाकी है।

यह भी कहा कि इनके द्वारा कराये गए परिवार नियोजन ऑपरेशन का (family planning operation )10 प्रतिशत केस की जांच DQUACके द्वारा किए जाने एवं सही पाये जाने के उपरांत नियमानुसार भुगतान किया जाना है।

भुगतान को लेकर जब गोल्डन कुमार जिला कार्यक्रम प्रबंधक दीपक कुमार गुप्ता से मिले तो डीपीएम ने बताया कि सिविल सर्जन डा. जॉन एफ कनैडी ने बोला कि एक लाख रूपए रिश्वत के रूप में देना पड़ेगा, तभी आपके बिल को जमा कर भुगतान एवं एमओयू को रद्द नहीं किया जायेगा। एमओयू की तिथि 6.5.2022 तक थी।

रिश्वत देकर कार्य नहीं कराना चाहता था

16 सितंबर की सुबह 9 बजे गोल्डन Dr. John F. Kennedy के आवास पर उनसे मिले। सिविल सर्जन (Civil Surgeon )ने कहा कि एक लाख रूपए दे दो तब तुम्हारा बिल जमा लिया जायेगा।

साथ ही किए गए कार्य की जांच के पश्चात बिल का भुगतान कर दिया जायेगा एवं MOU संबंधित नये आदेश निर्गत कर दिया जायेगा।

इस आदेश को दो वर्ष तक बदला भी नहीं जायेगा। वादी रिश्वत देकर कार्य नहीं कराना चाहता था।

रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया

आवेदन के आलोक में एसीबी पलामू ने इसका सत्यापन किया और मामले को सही पाया।

मामले में सिविल सर्जन डा. जॉन एफ कनैडी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो(Anti Corruption Bureau), पलामू थाना में मामला दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया।

धावादल का गठन कर नामजद आरोपित डा. जॉन एफ कनैडी को चर्च रोड स्थित आवास से 50 हजार रूपए रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker