बिहार में सबसे ज्यादा मुनाफे का व्यवसाय अवैध शराब बेचना : तेजस्वी

पटना: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने गुरुवार को राज्य में शराबबंदी कानून को पूरी तरह असफल बताते हुए सरकार को एक बार फिर से घेरा है।

उन्होंने कहा कि बिहार में सबसे मुनाफा का व्यवसाय शराब बेचना बन गया है।

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राज्य का सबसे बड़ा शराब माफिया होने का भी आरोप लगाया है।

राजद कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में तेजस्वी ने कहा कि, मंत्री रामसूरत राय के स्कूल में शराब की बरामदगी हुई।

उनके भाई शराब के कारोबार में संलिप्त हैं, लेकिन मंत्री पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

राजद नेता ने मंत्री राय को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की।

तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि, बिहार में सबसे बड़ा शराब माफिया कोई है तो वो नीतीश कुमार हैं।

उन्होंने नीतीश कुमार को लाचार, मजबूर, थका हुआ मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि देश में ऐसा लाचार मुख्यमंत्री कोई नहीं है।

तेजस्वी यादव ने यह भी आरोप लगाया कि, नीतीश मंत्रिमंडल में कई ऐसे मंत्री हैं जो शराब का धंधा करते हैं लेकिन किसी पर कार्रवाई नहीं होती। आखिर इनको संरक्षण क्यों दिया जा रहा है।

बिहार में 64 प्रतिशत मंत्री दागी हैं, जिनपर गंभीर आरोप हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार में आज सबसे मुनाफा का व्यवसाय शराब बेचने का काम बन गया है।

उन्होंने कहा कि 20 हजार करोड़ का समानांतर बाजार बन गया है।

तेजस्वी यादव ने पूर्व पुलिस महानिदेशक का जिक्र करते हुए कहा कि, पूर्व पुलिस महानिदेशक ने यह कहा था कि थाने में शराब की बिक्री होती है।

उन्होंने कहा कि इससे पहले हमने ही नीतीश कुमार का भी बिहार के सबसे बड़े शराब माफिया के साथ फोटो रिलीज किया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button