पूर्व PM एचडी देवगौड़ा के पोते की काली करतूतों ने सियासत में मचाया बवंडर, अब…

News Aroma Desk

Sex Scandal Video of Karnataka MP Prajwal Revanna: पूर्व प्रधानमंत्री HD देवगौड़ा के पोते की करतूत ने सियासी चूले हिला दीं है। खुद तो विदेश भाग गया यहां कई नेताओं और अफसरों की सांस फूलती दिख रहीं है।

कब किसकी Xlip आ जाए ये कोई नहीं जानता। कर्नाटक के सांसद प्रज्वल रेवन्ना से जुड़े सेक्स स्कैंडल (Sex Scandal) के कई Video सामने आए हैं।

कहा जा रहा है कि अब इस sex scandal के कारण भविष्य में राजनेताओं और उनके रिश्तेदारों से जुड़े और अधिक आपत्तिजनक Video सामने आ सकते हैं।

आरोप है कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी प्रतिशोध और एक-दूसरे से आगे निकलने के संदिग्ध खेल में लगे हुए हैं। चूंकि कर्नाटक के राजनीतिक स्पेक्ट्रम में लगातार अश्लील Video का प्रसार राजनेताओं को परेशान कर रहा है, इसलिए कांग्रेस के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने चिंता व्यक्त की।

उन्होंने कहा, यह कुत्ते के कुत्ते को खाने जैसी स्थिति हो गई है। जेडी(एस) के नेता न केवल प्रज्वल को फंसाने वाले कथित Video के कारण बल्कि देवेगौड़ा की प्रतिष्ठा को हुए नुकसान के कारण भी क्रोधित हैं। हमारे नेताओं के खिलाफ कुछ जवाबी कार्रवाई हो सकती है।

बढ़ते विवाद के बीच, KS Eshwarappa के बेटे केई कांतेश ने उनके खिलाफ किसी भी अपमानजनक सामग्री के प्रसार को रोकने के लिए निरोधक आदेश प्राप्त कर लिया है।

इसी तरह की चिंताओं को दोहराते हुए, JDS के वरिष्ठ विधायक जीटी देवगौड़ा ने टिप्पणी की, वे देवगौड़ा को सिर्फ इसलिए बदनाम कैसे कर सकते हैं क्योंकि उनका पोता किसी मामले में शामिल है? उनका लंबा करियर दिखाता है कि वे कौन हैं। यह कुछ और नहीं बल्कि गंदी राजनीति है। पूर्व PM HD देवेगौड़ा के 33 वर्षीय पोते प्रज्वल को लेकर उठे विवाद के तुरंत बाद एक नया फुटेज सामने आया है।

इस Video में कथित तौर पर पड़ोसी जिले के एक कांग्रेस विधायक की संलिप्तता है, हालांकि इस वीडियो से अभी तक उतना हंगामा नहीं मचा, जितना की हासन के सांसद से जुड़े कथित Video ने मचाया था। चिंता की बात यह है कि मुख्यधारा का मीडिया पीड़ितों की पहचान छिपाता है, लेकिन सोशल मीडिया और Photo Sharing Platform पर यह सब खुलेआम हो रहा है।

पिछले दो दशकों में कर्नाटक में कई सेक्स स्कैंडल हुए हैं, जिनमें विभिन्न पार्टियों के नेता शामिल हैं। इन स्कैंडलों के कारण इस्तीफ़े, जांच और कानूनी लड़ाइयां हुईं, जिससे राजनीतिक परिदृश्य पर नकारात्मक असर पड़ा।

2019 में, तत्कालीन जल संसाधन मंत्री रमेश जरकीहोली ने यौन संबंधों के लिए प्रलोभन देने के आरोपों के बीच इस्तीफा दे दिया था, क्योंकि एक Video CD में उन्हें कथित तौर पर एक पीड़िता के साथ दिखाया गया था, लेकिन इसकी प्रामाणिकता अभी भी अपुष्ट है। उसी वर्ष, तत्कालीन BJP विधायक अरविंद लिंबावली (Arvind Limbavali) से जुड़ा एक कथित सेक्स टेप सामने आया था, लेकिन बाद में फोरेंसिक जांच में इसे फर्जी पाया गया।

हमें Follow करें!

x