उड़ान भरने वाली थी फ्लाइट तभी यात्री बोला- मैं कोरोना पॉजिटिव और मच गया हड़कंप

नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पुणे जाने वाली फ्लाइट में उस समय हड़कंप मच गया जब उड़ान भरने को तैयार थी एक पैसेंजर ने खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना दी।

जानकारी के बाद प्लेन में बाकि पैसेंजर्स के बीच अफरा-तफरी मच गई। फ्लाइट क्रू के सदस्यों ने अन्य यात्रियों को शांत कराने की कोशिश की। जानकारी मिलते ही पायलट प्लेन को पार्किंग बे में ले आया।

इसके बाद सभी यात्रियों को नीचे उतारा गया। यह घटना गुरुवार को उस समय हुई जब इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6ई-286 पुणे के लिए उड़ान भरने को तैयार थी।

अधिकारियों ने कहा कि एक व्यक्ति ने फ्लाइट क्रू को खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी। इसके बाद तुरंत पायलट को अलर्ट किया गया। सूत्रों ने बताया कि व्यक्ति ने खुद के कोरोना पॉजिटिव साबित करने के लिए एक डॉक्यूमेंट भी दिखाया।

हालांकि, तब तक यह साफ नहीं हो पाया था कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद व्यक्ति प्लेन में क्यों चढ़ा। चढ़ने के बाद ऐसा क्या हुआ कि उसने इस बात का खुलासा किया।

घटना के बारे में जानकारी मिलते ही पायलट प्लेन को पार्किंग बे में ले आया ताकि सभी यात्रियों को नीचे उतारा जा सके। जानकारी मिलते ही प्लेन में बैठे सभी यात्रियों के बीच अफरा-तफरी मच गई।

फ्लाइट क्रू ने लोगों को शांत रहने की अपील की। टैक्सी बे में पहुंचने के बाद ही सभी यात्री शांत हुए। इसके बाद संक्रमित व्यक्ति को एयरपोर्ट अधिकारियों को सौंप दिया गया।

इंडिगो ने कहा कि एयरक्राफ्ट को पूरी तरह से फ्यूमिगेटेड और सैनिटाइज कर दिया गया। सीट कवर्स भी बदल दिए गए। इस पूरी घटनाक्रम में फ्लाइट करीब दो घंटे ले हो गई।

हालांकि, इसके बाद किसी भी यात्री का कोरोना टेस्ट नहीं कराया गया। संक्रमित यात्री को एयरपोर्ट अधिकारियों को सौंपने के बाद उसे सफदरजंग अस्पताल को कोविड-19 फैसिलिटी में भेज दिया गया।

पिछले साल मार्च में घरेलू उड़ानों पर रोक के बाद एक फिर से हवाई सेवाओं का संचालन शुरू कर दिया गया है।

आईजीआई एयरपोर्ट पर अक्टूबर 2020 से शुरुआत में टर्मिनल तीन और टर्मिनल-2 से विमानों का संचालन शुरू किया गया। टर्मिनल-1 का अभी रिनोवेशन चल रहा है।

जल्द ही यहां से भी संचालन शुरू होने की उम्मीद है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button