भारत

भड़काऊ भाषण मामले में पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

फैसला उनके पक्ष में नहीं आया तो उन्हें और अधिक समय तक जेल में रहना होगा

तिरुवनंतपुरम: कांग्रेस के पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज (PC George) को जिला अदालत ने भड़काऊ भाषण देने के मामले में गुरुवार सुबह 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

1 मई को, जॉर्ज को कोट्टायम जिले के पुंजर में उनके घर से गिरफ्तार किया गया था, लेकिन वह उसी दिन जमानत पर रिहा हो गए थे।

जमानत मिलने के कुछ दिनों बाद, कोच्चि के थ्रीक्काकारा में एक चुनावी रैली के दौरान, जॉर्ज ने फिर से अल्पसंख्यक समुदाय पर हमला करते हुए भड़काऊ भाषण दिया।

इस भाषण को लेकर उनके खिलाफ नया मामला दर्ज किया गया। इस नए मामले में जमानत लेने के लिए उन्होंने अदालत का दरवाजा खटखटाया।

जॉर्ज की जमानत याचिका पर उच्च न्यायालय में सुनवाई होगी

बुधवार को जब वह इस नए मामले के सिलसिले में पुलिस के सामने पेश होने के लिए कोच्चि जा रहा था, तब उन्हें पता चला कि तिरुवनंतपुरम की एक अदालत ने 1 मई को दी गई उनकी जमानत रद्द कर दी है।

पुलिस टीम ने पहले मामले में बयान दर्ज कर पूर्व विधायक को गिरफ्तार कर लिया। गुरुवार सुबह जिला अदालत में उन्हें पेश किया गया। अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

सेंट्रल जेल ले जाने से ठीक पहले उन्होंने मीडिया से कहा कि ये सब मजाक है। मैं वास्तव में नहीं जानता कि क्या हो रहा है।

उनकी गिरफ्तारी पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए राज्य भाजपा अध्यक्ष के. सुरेंद्रन ने कहा कि यह सिर्फ एक नाटक है और कुछ नहीं, मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कुछ लोगों को आश्वासन दिया था कि जॉर्ज को उपचुनाव से पहले गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जॉर्ज तुष्टीकरण की राजनीति का शिकार हो रहे हैं।

जॉर्ज की जमानत याचिका पर उच्च न्यायालय में सुनवाई होगी। अगर फैसला उनके पक्ष में नहीं आया तो उन्हें और अधिक समय तक जेल में रहना होगा।