बिहार

बेटे की लाश देने के लिए बुजुर्ग मा-पिता से मांगे रुपए, पीड़ित दंपती पोस्टमार्टम के लिए दर-दर ठोकरें खाकर मांग रहे भीख

वीडियो में यह भी दिख रहा है कि कुछ लोग पिता के गमछे में कुछ पैसा डाल रहे हैं। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद सिविल सर्जन की दखल पर अस्पताल प्रबंधन ने पीड़ित पिता को शव दे दिया

पटना: कहते हैं कि मुसीबत आती है तो चारों ओर से आती है। और यदि किसी बुजुर्ग माता-पिता पर परेशानी आ जाए तो यह और भी चिंता का विषय है। ऐसा ही एक मामला बिहार (Bihar) के समस्तीपुर जिले से आई है।

यहां एक बुजुर्ग मां-पिता को अपने बेटे की लाश का पोस्टमार्टम कराने के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं।

जवाब बेटे की मौत के बाद यह दंपती पहले टूट चुका है और अब भीख मांगना उसके लिए मुसीबतों का पहाड़ गिरने से कम नहीं है।

घटना मंगलवार की है। लेकिन इसका वीडियो (Video) अब वायरल हुआ। वीडियो में एक लाचार पिता अपने गमछे को फैलाए लोगों से भीख मांगता दिख रहा है।

वीडियो में यह भी दिख रहा है कि कुछ लोग पिता के गमछे में कुछ पैसा डाल रहे हैं। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद सिविल सर्जन की दखल पर अस्पताल प्रबंधन ने पीड़ित पिता को शव दे दिया।

लाश सौंपने के लिए मांगे रुपए

खबर है कि समस्तीपुर सदर अस्पताल (Sadar Hospital) में पोस्टमॉर्टम के बाद बेटे का शव देने के लिए गरीब मां-बाप से 50 हजार रुपए मांगे गए थे।

लाचार पिता के पास इतने पैसे नहीं थे, पैसे की जुगाड़ के लिए वे अपने गांव लौटे और फिर गांव में आंचल फैलाकर भीख मांगते दिखे। इसी दौरान किसी ने उनका वीडियो बना लिया। जो अब वायरल हो गया।

ताजपुर थाना क्षेत्र के आहार का मामला

लाचार पिता समस्तीपुर के ताजपुर थाना के आहार गांव निवासी महेश ठाकुर है। महेस का 25 वर्षीय पुत्र संजीव ठाकुर बीते 25 मई से लापता था।

परिजनों ने बेटे की खूब तलाश की, लेकिन कुछ पता नहीं चला। 7 जून को जानकारी मिली कि मुसरीघरारी थाना क्षेत्र में एक अज्ञात युवक का शव मिला है।

इस बात की जानकारी मिलते ही महेश ठाकुर दौड़े-भागे थाना पहुंचे। जहां जानकारी मिली कि लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया।

लाश दिखाने से भी की आनाकानी

लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजे जाने की जानकारी मिलते ही महेश ठाकुर और उनकी पत्नी सदर असप्ताल पहुंची।

जहां पहले तो पोस्टमॉर्टम करने वाले ने शव दिखाने में आनाकानी की। बाद में गुहार लगाने के बाद शव दिखाया। इसके बाद जब पिता ने शव की मांग की तब कर्मचारी ने 50 हजार रुपए मांगे।

पैसे नहीं देने पर शव देने से साफ इनकार कर दिया। थक हार कर महेश ठाकुर और उनकी पत्नी गांव पहुंची और मामले की जानकारी देते हुए गांव के लोगों से भीख मांगना शुरू किया।

हालांकि यह मामला संज्ञान में आने के बाद बिहार के CM नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने संबंधित लोगों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दे दिए हैं।

उन्होंने इससे पहले इस मामले में ठीक से जांच कराने के निर्देश दिए हैं। बहरहाल, दूसरी ओर सीएस डॉ. एसके चौधनी बोले, यह मामला शर्मनाक है।

मामले में जांच कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि बिहार में इस तरह से लाख देने से पहले पैसे मांगना आम बात है।

कई बार बिहार की राजधानी पटना में भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं कि लाश देने से पहले वहां मौजूद लोग पीड़ित परिवार से पैसे मांगते हैं।

PMCH में भी कई बार मोर्चरी के पास इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। बावजूद इसके कोई ठोस व्यवस्था नहीं हो पा रही है और अब समस्तीपुर में शर्मनाक मामला सामने आया है।