झारखंड में माकपा माओवादी संगठन ताला दा के पिता की इलाज के दौरान मौत, एक दिन पहले कराया गया था अस्पताल में भर्ती

न्यूज़ अरोमा दुमका: माकपा माओवादी के संताल परगना जोनल कमांडर ताला दा उर्फ सहदेव राय के पिता बद्री राय की इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मौत हो गई।

बद्री राय संताल परगना में भाकपा माओवादी संगठन की नीव जमाई थी। वर्ष 2009 में जेल गया था। पांच साल बाद 2013 में जेल से रिहा होने के बाद काठीकुंड थाना क्षेत्र के बड़ा सरूवापानी गांव में रहने लगे थे।

बद्री राय के दो बेटे सहदेव राय एवं रामलाल राय नक्सली संगठन से जुड़ पाकुड़ एसपी अमरजीत बलिहार, लोकसभा चुनाव 2014 में लैंड माईस ब्लास्ट आदि दर्जनों नक्सली घटना को अंजाम दिया।

ताला दा उर्फ सहदेव राय का मुठभेड़ 13 जनवरी 2018 में कर दिया था। छोटा बेटा रामलाल राय हजारीबाग जेल में सजा काट रहा है।

बुधवार को देर शाम सरूवापानी के ग्राम प्रधान हीरामुनी देवी के साथ परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। रामलाल राय की पत्नी दीपिका मुर्मू ने बताया कि जोंडिस एवं लीवर सहित कई बीमारी से ग्रसित थे।

उनके पैर में गंभीर घाव हो गये थे। एसएसबी की मदद से इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज, दुमका अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां इलाज के दौरान मौत हो गई।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button