झारखंड

देवघर में चार आरा मिल ध्वस्त, लाखों की लकड़ियां बरामद

वहीं इस अभियान से लाखों रूपये कीमत के सागवान की लकड़ी बरामद किया गया है

देवघर: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के वन क्षेत्र के पांच किलोमीटर दायरे अंतर्गत आरा मिलों को हटाए जाने के आदेश का असर देवघर जिले में देखने को मिल रहा है।

आदेश के बाद हरकत में आये वन विभाग देवघर ने बुधवार को जिले के सारठ और सारवां में चार आरा मिलों को ध्वस्त कर दिया है। वहीं इस अभियान से लाखों रूपये कीमत के सागवान की लकड़ी बरामद किया गया है।

वन विभाग ने सागवान की लकड़ियां बरामद की

न क्षेत्र पदाधिकारी एसडी सिंह ने बताया कि वन विभाग (Forest department) के द्वारा सारवां थाना क्षेत्र के मंझलाडीह और सारठ थाना क्षेत्र के लकड़ाखेड़ा और बरमसिया गांव में छापेमारी कर कुल चार अवैध आरा मिल को ध्वस्त किया गया।

मंझलाडीह गांव (Manjladih Village) में दो अवैध मिल का संचालन नितीश वर्मा और बबुआ ठाकुर जबकि लकड़ाखेड़ा में मदन मियां और बरमसिया गांव में रजाउल अंसारी द्वारा किया जा रहा था। वन विभाग ने मौके पर लाखों रूपये कीमत के सागवान की लकड़ियां भी बरामद की है।