रांची में बिना मास्क के नजर आये, तो COVID जांच करायेगा प्रशासन

रांची: रांची में अगर आप बिना मास्क के नजर आये तो जिला प्रशासन आपकी कोविड-19 जांच करायेगा।

इसके लिए दो स्थानों चर्च काॅम्प्लेक्स के पास (सैनिक मार्केट) और खादगढा बस स्टैण्ड, कांटाटोली में स्टैटिक टेस्टिंग सेंटर लगाये जायेंगे।

साथ ही कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए जारी दिशा निर्देशों के उल्लंघन के बाद सील किये गये दुकानों के सभी कर्मियों के कोरोना जांच के बाद ही प्रतिष्ठान को खोले जाने की अनुमति मिलेगी।

उपायुक्त छवि रंजन ने सोमवार को कोविड-19 के रोकथाम के लिए बनाये गये। विभिन्न कोषांगों की समीक्षा बैठक के दौरान ये निदेश दिये।

रांची समाहरणालय स्थित उपायुक्त सभागार में आयोजित बैठक में सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी, सहयोगी पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

कोविड-19 की जांच बढ़ाने को लेकर उपायुक्त ने दिये निर्देश

बैठक में उपायुक्त ने सबसे पहले रांची जिला में विभिन्न स्थानों पर किये जा रहे कोविड-19 जांच की जानकारी ली।

टेस्टिंग सेल के प्रभारी को उपायुक्त ने कोविड-19 के लिए सभी तरह किये जा रहे टेस्ट की माॅनिटरिंग करते हुए टेस्टिंग बढ़ाने का निदेश दिया।

उन्होंने रैपिड एंजीजेन और आरटीपीसीआर टेस्ट के रेशियो मेंटेन करने का निदेश देते हुए अनुमंडल पदाधिकारी सदर को कोर टीम के साथ समीक्षा करने को कहा।

सिविल सर्जन रांची से बैठक के दौरान उपायुक्त ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध बेड की संख्या, आईसीयू, वेंटीलेटर की जानकारी ली।

इसकी संख्या बढ़ाने को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

सभी कोविड केयर सेंटर में लाॅजिस्टिक की उपलब्धता के बारे में जानकारी लेते हुए भी उन्होंने संबंधित पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निदेश दिये।

सिविल सर्जन रांची को उपायुक्त ने पारा मेडिकल कर्मियों की ट्रेनिंग देते एनेस्थियोलाॅजिस्ट की उपलब्ध आदि को लेकर दो महीने का प्लान देने का निदेश दिया।

होम आइसोलेशन सेल की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि होम आइसोलेशन के लिए प्रोटोकाॅल का पूरी तरह से पालन करें।

होम आइसोलेशन में मरीज की जांच के लिए उपायुक्त ने ससमय डाॅक्टर के विजिट, मेडिकल किट उपलब्ध कराने को लेकर एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर को आवश्यक निदेश दिये।

आइसीएमआर और सीवी पोर्टल पर डाटा अपडेशन को लेकर भी उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारी से आवश्यक जानकारी ली।

काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग टीम की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारी को डीएसपी हेडक्र्वाटर की टीम के साथ मीटिंग करने का निर्देश दिया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button