भारत की आंतरिक समस्या अन्य देश की राजनीति के लिए चारा नहीं: प्रियंका चतुर्वेदी

मुंबई: केंद्र की ओर से हाल ही में पारित किए गए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के विरोध प्रदर्शन पर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन टड्रो की कथित टिप्पणी पर आपत्ति जताते हुए शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने मंगलवार को कहा कि टड्रो को भारत के आतंरिक मामले का इस्तेमाल कर राजनीति नहीं करनी चाहिए।

प्रियंका चतुर्वेदी ने टड्रो को जवाब देते हुए कहा कि भारत का आतंरिक मामला किसी अन्य राष्ट्र की राजनीति के लिए चारा नहीं है।

राज्यसभा सदस्य चतुर्वेदी ने ट्वीट किया, प्रिय जस्टिन टड्रो, आपकी चिंता की कद्र करती हूं, लेकिन भारत का आतंरिक मामला किसी अन्य राष्ट्र की राजनीति के लिए चारा नहीं है।

कृपया दूसरे देशों के प्रति सम्मान प्रकट करने का शिष्टाचार निभाएं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से अनुरोध करती हूं कि इस मुद्दे को दूसरे देशों द्वारा अपनी राय दिए जाने से पहले ही सुलझा लें।

इससे पहले टड्रो ने गुरुपर्व के अवसर पर एक वीडियो जारी कर कहा था, भारत में किसानों द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन की खबरों का संज्ञान न लूं तो इसे मामले को नजरअंदाज करना माना जाएगा।

स्थिति चिंताजनक है और हम सब परिवारों और दोस्तों के बारे में परेशान हैं।

उन्होंने कहा था, मैं आपको याद दिलाना चाहता हूं, कनाडा हमेशा शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के समर्थन में है।

हम संवाद के महत्व में विश्वास करते हैं और इसीलिए हमने भारतीय अधिकारियों को अपनी चिंता से अवगत कराया है।

भारत में किसान इस साल सितंबर में संसद द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-हरियाणा और दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमाओं पर कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

किसान नए कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button