झारखंड : प्रेमी निकला प्रेमिका का क़ातिल, दुपट्टे से गला घोट कर की थी हत्या

चतरा: सदर थाना क्षेत्र के मसुरीयातरी गांव निवासी स्व मुटकन गंझू की पुत्री बबीता कुमारी (20) की हत्या उसके प्रेमी ने ही अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर की है।

पुलिस ने घटना के दो दिनों के अंदर मामले का खुलासा करते हुए हत्यारे प्रेमी व उसके दोनों दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है। यह जानकारी एसडीपीओ अविनाश कुमार ने मंगलवार को सदर थाना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में दी।

एसडीपीओ ने बताया कि बीते सात नवंबर को करमाही जंगल में बबीता कुमारी का शव बरामद किया गया था। इस मामले में मृतका का भाई शिटन गंझू ने सदर थाना में अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज कराया था।

एसपी राकेश रंजन ने इस मामले की जांच को लेकर उनके नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। टीम में सदर थाना प्रभारी लव कुमार, पुअनि रामवृक्ष राम, स्वेत प्रकाश दुबे व रूपेश कुमार को शामिल किया गया। टीम ने घटना के बाद गांव में जाकर मामले की जांच शुरू किया गया।

जांच के दौरान ग्रामीणों से पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि मृतक युवती बबीता कुमारी का किसी लड़के के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था।

पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद थाना क्षेत्र के तिलैया गांव से मृतका के प्रेमी सतेंद्र गंझू को खोज निकाला। शुरू में तो सतेंद्र गंझू ने बबीता का प्रेमी होने से इंकार करते हुए पुलिस को दिग्भ्रमित करने का भरपूर प्रयास किया।

उसने बताया कि उसके गांव में सतेंद्र नाम के तीन तीन व्यक्ति हैं। वह इस मामले में कुछ नहीं जानता। लेकिन पुलिस ने थोड़ी कड़ाई किया तो सतेंद्र टूट गया और सारा राज खोल दिया। सतेंद्र ने पुलिस को बताया कि बबीता के साथ पिछले कई वर्षों से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था।

बबीता उसके अलावा उसके गांव के हीं उसके साथी लालू गंझू व महेश गंझू के साथ भी फोन पर बात करती थी। बीते पांच नवंबर को बबीता डाहा मेला देखने घर से निकली थी। उसने बबीता को फोन कर मसुरीयातरी बुलाया।

इसके बाद उसे लेकर करमाही जंगल चला गया। जहां पहले से लालू गंझू व महेश गंझू मौजूद थे। सतेंद्र गंझू ने अपने प्रेमिका से उक्त दोनों युवकों के साथ बात चीत करने से संबंधित पूछताछ करने लगा।

बबीता ने सतेंद्र को बताया कि वह उससे प्यार करती है और उसी से शादी करेगी। सतेंद्र ने उससे शादी नहीं करने की बात कही। इस पर बबीता ने सतेंद्र पर शादी करने का दबाव बनाते हुए कहा कि यदि वह उससे शादी नहीं करेगा तो पुरे गांव को इसकी जानकारी दे देगी और उसके खिलाफ पंचायत बैठाइगी।

इसके बाद अपनी बदनामी के डर से सतेंद्र ने अपने दोनों दोस्तों के साथ मिलकर बबीता के हीं दुपट्टे से उसका गला घोट कर हत्या कर दिया। हत्या करने के बाद शव को वहीं जंगल में छोड़ कर सभी फरार हो गए। पुलिस ने सात नवंबर को करमाही जंगल से युवती का शव बरामद किया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button