झारखंड : महिलाओं से लाखों रुपये ठग कर फरार हुआ माइक्रो फाइनेंस कंपनी का स्टाफ

महिलाओं ने बताया कि वह सारा पैसा लखिराम मांझी के जरिए जाम कर चुकीं है

बोकारो: नावाडीह प्रखंड के ऊपरघाट स्थित पेक गांव निवासी 40 वर्षीय लखी राम मांझी उर्फ रतिराम मांझी उर्फ धनीराम गांव में संचालित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से लाखों रुपये ठग कर फरार हो गया।

मामले का पता तब हुआ जब समूह की महिलाओं को लोन देने वाले फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस प्राइवेट कंपनी के पदाधिकारी वसूली को गांव पहुंचे।

पदाधिकारी ने महिलाओं से कहा कि बहुत दिनों से आप लोगों लोन का पैसा जमा नहीं किया है।

तब महिलाओं ने बताया कि वह सारा पैसा लखिराम मांझी के जरिए जाम कर चुकीं है।

मामले का खुलासे होते ही लोन देने वाली कंपनी एवं महिलाओं के होश उड़ गए।

महिलाओं से मिली जानकारी के अनुसार लखीराम मांझी ने महिलाओं को माइक्रो फाइनेंस प्राइवेट कंपनी से समूह के संचालन को 25 हजार रुपये का लोन दिलवाया था।

पूरे पंचायत में करीब 100 से 110 महिलाओं को कंपनी लोन दिया था, लोन मिलने के बाद लखीराम मांझी ने महिलाओं को झांसा देते हुए कहा कि 25 हजार में अगर वे कंपनी को 20 हजार रुपये वापस कर देगी तो उसका लोन माफ हो जाएगा और पांच हजार का फायदा हो जाएगा।

लखीराम ने कहा वह फाइनेंस कंपनी के पदाधिकारियों से बात कर चुका है।

महिलाएं लखी राम के बातों में आकर पैसे दे दिए। इसी तरह गांव की कई महिलाओं से लखीराम पैसे लेकर फरार हो गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button