पलामू में कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को दिए चेक

मेदिनीनगर: पलामू के प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार चौबे ने कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के घर जाकर फोस्टर केयर व स्पांसरशिप के तहत दो- दो हजार रुपये का चेक दिया। वे गुरुवार को चैनपुर के पूर्वडीहा व पाटन थाना के नवाखास गांव में पीड़ित के घर पहुंचे थे।

प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार चौबे को गांव में पहली बार आता देख लोगों को विश्वास जगा कि जरूर इन बच्चों को मदद के लिए उनका आगमन हुआ है।

प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश ने बच्चे से मिलकर उनको हिम्मत दिया। उन्होंने कहा कि आप अपने को अकेला न समझें। डालसा आपके साथ इस मुसीबत के घड़ी में खड़ा है।

उन्होंने बताया कि झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष न्यायमूर्ति अपरेश कुमार सिंह के दिशा निर्देश पर वैसे बच्चों को खोज कर सरकारी योजना से लाभान्वित किया जा रहा जो कि कोरोना वायरस के चलते अनाथ हो गए हैं।

इस मौके पर डालसा के सचिव अशोक कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार साह, बाल कल्याण समिति के सदस्य धीरेंद्र गुप्ता, पैनल अधिवक्ता संतोष कुमार पांडेय, सहायक संजीव सिंह, पीएलभी विनय प्रसाद, भागीरथी दुबे, चन्द्रदेव सिंह भी मौजूद थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button