झारखंड : अधिवक्ताओं ने संघ पदाधिकारी से किया दुर्व्यवहार, हुई धक्का-मुक्की ; संयुक्त सचिव को धमकी!

दुमका: जिला अधिवक्ता संघ के खिलाफ अधिवक्ताओं ने गुरुवार को रोष प्रकट किया। अधिवक्ताओ में नाराजगी संघ कल्याण कोष से आर्थिक मदद नहीं करने को लेकर थी।

अधिवक्ताओ ने संघ संयुक्त सचिव सोमनाथ दे को खूब भला-बुरा भी कहा। अधिवक्ताओं ने संघ पदाधिकारी से दुर्व्यवहार करते हुए धक्का-मुक्की भी की।

यहां तक कि जूनियर अधिवक्ताओं ने खुलेआम संयुक्त सचिव को जल्द वेलफेयर फंड से आर्थिक मदद नहीं करने पर पिटाई की भी धमकी दे डाली।

बाद में काफी समझाने-बुझाने पर अधिवक्ता और लिपिक माने। उसके बाद मामला शांत हुआ। अधिवक्ताओं ने वेलफेयर फंड से पैसे देने की अनुमति के बाद भी भुगतान में साजिशन विलम्ब करने की बात कही।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन में आर्थिक तंगी से जूझ रहे अधिवक्ता और लिपिक ने संघ समेत जनप्रतिनिधियों से भी मदद का गुहार लगा चुके हैं।

कई बार आवेदन संघ के नाम से आवेदन सौंप आर्थिक मदद मुहैया कराने का आग्रह कर चुके हैं।

पिछले डेढ़ साल से लॉकडाउन होने और कई माह से झारखंड अधिवक्ता संघ के निर्देशानुसार न्यायिक कार्य से दूर रहने के कारण माली हालत कमजोर हो चुकी है।

जूनियर अधिवक्ताओं और लिपिक संघ भुखमरी के कगार पर है। आक्रोशित अधिवक्ताओं के कोप का भाजन संयुक्त सचिव बने।

हालांकि, बाद में संघ ने जल्द ही वेलफेयर फंड से सहायता राशि मुहैया कराने का आश्वासन दिया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button