झारखंड

लोकसभा चुनाव- 2024 : इन सीटों और उम्मीदवारों पर मंथन कर रहा JMM

18वीं लोकसभा के लिए चुनावों की तारीखें घोषित हो चुकी हैं। ऐसे में I.N.D.I.A. सीटों के बंटवारे और उम्मीदवारों के चयन को लेकर रेस हो गया है।

JMM Lok Sabha Candidates: 18वीं लोकसभा के लिए चुनावों की तारीखें घोषित हो चुकी हैं। ऐसे में I.N.D.I.A. सीटों के बंटवारे और उम्मीदवारों के चयन को लेकर रेस हो गया है।

इधर, झारखंड में लोकसभा सीटों और उम्मीदवारों को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) में खासा मंथन चल रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, गठबंधन के तहत दुमका, राजमहल, गिरिडीह और सिंहभूम लोकसभा (Singhbhum Lok Sabha) सीटों पर JMM के लड़ने की संभावना प्रबल है। राजमहल से वर्तमान सांसद विजय हांसदा को ही फिर से टिकट मिलने की संभावना है।

वहीं, Dumka लोकसभा सीट पर कौन उम्मीदवार होगा, इस पर फैसला पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) करेंगे।

माना जा रहा है कि खुद हेमंत सोरेन ही दुमका सीट पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। उधर, गिरिडीह लोकसभा सीट से टुंडी विधायक मथुरा महतो पर पार्टी दांव लगा सकती है। हालांकि, अभी तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी है, कि किस सीट पर कौन चुनाव लड़ेगा।

कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा के BJP में जाने के बाद सिंहभूम सीट पर JMM ने अपनी दावेदारी पेश की है। ऐसा इसलिए, क्योंकि इस सीट के छह विधानसभा क्षेत्रों में से पांच पर JMM के ही विधायक हैं।

बताया जा रहा है कि गठबंधन में अब सहमति बन गयी है कि सिंहभूम लोकसभा सीट पर JMM का प्रत्याशी चुनाव लड़ेगा।

उधर, चाईबासा के विधायक दीपक चिरुवा अब राज्य सरकार के मंत्री बन गये हैं, इसलिए वह चुनाव नहीं लड़ेंगे। वहीं मझगांव के विधायक निरल पूर्ति और मनोहरपुर की विधायक जोबा मांझी ने कहा कि पाटी कहेगी, तो चुनाव लड़ेंगे ही, लेकिन अगर कोई और विकल्प है, तो उसे देखा जायेगा।

वहीं, चक्रधरपुर से विधायक सुखराम उरांव ने पार्टी को बता दिया है कि वह चुनाव लड़ना चाहते हैं। दूसरी ओर खरसावां विधायक दशरथ गगरई ने भी कहा है कि वह लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) लड़ना चाहते हैं। दोनों को बैठाकर कई दौर की बातें हो चुकी है। दोनों कह रहे हैं कि दोनों में से किसी को टिकट दे दीजिए, उन्हें कोई एतराज नहीं है।

उधर, जमशेदपुर लोकसभा सीट को लेकर भी संशय की स्थिति है। इस सीट पर कौन लड़ेगा, इसका फैसला मुख्यमंत्री Champai Soren करेंगे। 2019 के लोकसभा चुनाव में वह खुद प्रत्याशी थे।

इस बार चंपाई सोरेन के मुख्यमंत्री बन जाने के कारण किसी और को इस सीट पर लड़ाया जायेगा। हालांकि अभी साफ नहीं हो पाया है कि इस सीट पर कौन चुनाव लड़ेगा।

x