रांची, देवघर और जमशेदपुर में मध्य प्रदेश पुलिस ने की छापेमारी, 6 गिरफ्तार

रांची: मध्य प्रदेश पुलिस ने झारखंड की राजधानी रांची, देवघर और जमशेदपुर में छापेमारी कर साइबर अपराध के चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपितों में सुशांत, प्रभात, संजय महतो और विकास शामिल हैं।

पुलिस के मुताबिक इनमें से दो की गिरफ्तारी देवघर और जमशेदपुर से हुई है, जबकि अन्य दो की गिरफ्तारी रांची से की गई।

अब तक इस मामले में कुल छह गिरफ्तारियां हुई हैं। इनमें से चार झारखंड से और दो मध्य प्रदेश से है।

बताया जाता है कि साइबर ठगों का एक शातिर गिरोह लोगों के खातों से पैसे गायब कर रहा था।

मामला सामने आने के बाद मध्य प्रदेश के बालाघाट थाना में इस तरह की ठगी के संबंध में कई एफआईआर दर्ज हुए।

जिसके बाद बालाघाट पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए मध्य प्रदेश के रहने वाले मनोज राणा और हुकम सिंह बिसेन को गिरफ्तार किया। दोनों के पास से भारी मात्रा में नए मोबाइल सेट बरामद किए गए।

बालाघाट पुलिस ने जब दोनों आरोपितों से पूछताछ की तो यह पता चला कि इस गिरोह में कुल छह सदस्य हैं।

जिनमें से चार लोग झारखंड के रहने वाले हैं।

पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड झारखंड के देवघर का रहने वाला संतोष महतो है, वह गिरोह का सरगना है। जिसके बाद मध्य प्रदेश पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए झारखंड पुलिस से संपर्क किया।

जांच के क्रम में यह बात सामने आई कि गिरोह का सरगना संजय महतो देवघर में छुपा हुआ है।

गिरोह के तीन बाकी सदस्य रांची और जमशेदपुर में रहते हैं।

मामले की जांच में सबसे पहले मध्य प्रदेश पुलिस की टीम रांची के अरगोड़ा थाना पहुंची। जहां अरगोड़ा थाना प्रभारी विनोद कुमार के सहयोग से सुशांत और प्रभात को पकड़ा।

दोनों से पूछताछ करने के बाद देवघर से संजय महतो और जमशेदपुर से विकास को गिरफ्तार किया गया। सभी को मध्य प्रदेश पुलिस अपने साथ ट्रांजिट रिमांड पर लेकर रवाना हो गयी।

Back to top button