कोरोना महामारी में मौत का सरकारी आंकड़ा 3,22,523 है, पर सच्चाई इससे कई गुणा अधिक भयावह: कांग्रेस

रांची: प्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के सात सालों का कार्यकाल पूरी तरह से नकारा साबित हुआ है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता ने रविवार को कहा कि यदि संविधान में सरकार को बीच में ही बुलाने की व्यवस्था होती, तो देश की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिना देर किये सत्ता से बेदखल कर देती।

कोरोना महामारी के कुप्रबंधन के चलते देश में लोगों ने सिसक-सिसक कर दम तोड़ दिया। हालांकि मौत का सरकारी आंकड़ा 3,22,523 है, पर सच्चाई इससे कई गुणा अधिक भयावह है।

केंद्र सरकार ने पहली लहर के बाद कोरोना पर विजय के लिए अपनी पीठ स्वयं थपथपा ली, जबकि दुनिया के दूसरे देश टीकाकरण में गंभीर रहे।

अमेरिका-इंग्लैंड और यूरोप के तमाम देशों ने अपनी बड़ी आबादी को टीका दिलाया और इतना ही नहीं, दो बार से तीन बार से ज्यादा टीकाकरण के लिए कई कंपनियों को वैक्सीन खरीदने के लिए ऑर्डर भी दिया।

जबकि भारत ने अपनी आबादी को एक बार भी पूरा टीकाकरण के लायक जरूरी डोजों को ना तो स्वयं के लिए अपने देश में तैयार किया और ना ही विदेशी कंपनियों को ऑर्डर दिया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button