विदेश

रूस बना रहा घातक शक्तिशाली Hypersonic Missile, पानी, हवा और जमीन से लगा सकेगी निशाना

हथियारों को विकसित किया जा रहा है, ताकि अमेरिका के हथियारों के भंडार के साथ बराबरी लाई जा सके

News groupe Whatsapp

मॉस्को: रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को ढाई महीने से अधिक हो गया है। यूक्रेन की सेनाएं रूसी सेना को पूरे मनोबल से पीछे धकेल रही है। इसी बीच रूस एक नया हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) बना रहा है जिसे जमीन, हवा और समुद्र तीनों से ही लॉन्च किया जा सकता है।

इस बात की पुष्टि रूस के डिप्टी प्रधानमंत्री ने की है। खबरों में बताया गया कि डिप्टी प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव ने कहा है कि हथियारों को विकसित किया जा रहा है, ताकि अमेरिका के हथियारों के भंडार के साथ बराबरी लाई जा सके।

उन्होंने कहा, ‘नई पीढ़ी की हाइपरसोनिक मिसाइलों के डेवलपमेंट पर काम चल रहा है, जो हवा, जमीन और पानी से लॉन्च किए जा सकेंगे। हाइपरसोनिक मिसाइलों की रेस में इसके जरिए हम आगे निकल जाएंगे।’

उन्होंने आगे कहा कि रूस आधुनिक विमानन प्रणालियों को नई मिसाइलों से लैस करने की योजना बना रहा है। उन्होंने कहा, ‘टीयू-22एम3एम मिसाइल कैरियर की टेस्टिंग हो रही है।’

हाइपरसोनिक हथियारों के डेवलपमेंट की घोषणा

रूस के रक्षामंत्री सर्गेई शोइगु ने अगस्त 2021 में नई पीढ़ी के हाइपरसोनिक हथियारों के डेवलपमेंट की घोषणा की थी। यूरी बोरिसोव ने कहा कि डेवलपमेंट के बाद हमारी मिसाइलों की रेंज बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा, ‘इसकी स्पीड भी बढ़ेंगी।

अगर हम अभी के मिसाइल से तुलना करें तो ये बेहद सटीक रहेगा।’ बता दें कि रूस ने सोमवार को इस बात की पुष्टि की थी कि उसके पास पर्याप्त उच्च कोटि की सटीक क्षमता वाली मिसाइलें और गोला बारूद हैं।

मार्च में पेंटागन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि युद्ध में रूस के पास कोई भी सटीक गाइडेड मिसाइल नहीं है। रूस ने 9 मई को विक्ट्री डे मनाया। विक्ट्री डे परेड में रूस ने हथियारों का प्रदर्शन किया।

इस परेड में यार्स अंतरमहाद्वीपीय थर्मोन्यक्लियर मिसाइल का प्रदर्शन किया। ये मिसाइल 12 हजार किलोमीटर की रेंज तक फायर कर सकती है।

मिसाइल का वजन 49.6 टन है जो 24500 किमी/घंटे की रफ्तार से उड़ सकती है। परेड में टी-90 टैंक और एस-400 मिसाइल का प्रदर्शन भी रूस ने किया।