कोलम्बो वनडे : भारतीय सीनियर टीम के कोच के रूप में द्रविड़ की परीक्षा शुरू

कोलंबो: यहां बिना किसी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट के ढाई सप्ताह से अधिक समय तक रहने के बाद भारतीय सीमित ओवरों की टीम रविवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में होने वाले पहले एकदिवसीय मैच में उतरेगी।

श्रीलंका में एक वरिष्ठ राष्ट्रीय टीम के कोच के रूप में राहुल द्रविड़ के लिए पहले मैच का नतीजा क्या होगा, यह देखने वाली बात होगी।

शिखर धवन की अगुवाई वाली भारतीय टीम में कुछ युवा शामिल हैं, जिनमें से कुछ ने भारत के लिए कुछ मैच खेले हैं जबकि कुछ अन्य को खेलना बाकी है।

कम से कम छह भारतीय खिलाड़ी अनकैप्ड हैं, हालांकि उनके पास हाई-प्रोफाइल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का अनुभव है।

हालांकि ये सीमित ओवरों के अंतरराष्ट्रीय मैचों का अंतिम सेट है जो भारत को अक्टूबर-नवंबर में टी20 विश्व कप से पहले खेलना।

भारत अब विश्व कप टीम के लिए कई नए चेहरों को नहीं चुन सकता क्योंकि टीम लगभग तय हो चुकी है। ऐसे में द्रविड़ द्वारा टीम को संभालना दिलचस्पी का विषय होगा।

भारत के पूर्व बल्लेबाज राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के निदेशक हैं और उन्हें युवाओं को संवारने का काम सौंपा गया है। उन्होंने विदेशी दौरों पर ए टीम के हिस्से के रूप में श्रीलंका में कई खिलाड़ियों के साथ यात्रा की है।

द्रविड़ की बड़ी चुनौती टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड में भारतीय टीम प्रबंधन के साथ उनका संवाद होगा।

कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री, जो टी20 विश्व कप में टीम प्रबंधन में शामिल होंगे, को मौजूदा टीम के विकास के बारे में सूचित करना होगा और उनकी आवश्यकताओं को ध्यान में रखना होगा।

भारतीय टीम श्रीलंका की उस टीम के खिलाफ पसंदीदा शुरूआत करेगी जो अपने कुछ शीर्ष खिलाड़ियों के बिना खेलने जा रही है।

उनके तीन प्रमुख खिलाड़ियों – विकेटकीपर निरोशन डिकवेला, बल्लेबाज कुसल मेंडिस और दनुष्का गुणथिलाका को इंग्लैंड दौरे के दौरान जैव-सुरक्षित वातावरण का उल्लंघन करने के लिए अनुशासनात्मक आधार पर निलंबित कर दिया गया है।

बल्लेबाज कुसल परेरा, जो एकदिवसीय और टी20 सीरीज नहीं खेलेंगे, और तेज गेंदबाज बिनुरा फर्नांडो, जो एकदिवसीय मैचों में नहीं खेलेंगे लेकिन टी20 में खेलेंगे, भी टीम से गायब हैं।

भारत के लिए, ध्यान इस बात पर होगा कि हार्दिक पांड्या एक गेंदबाज के रूप में कैसा प्रदर्शन करते हैं क्योंकि वह पीठ की चोट से उबर रहे हैं। टी20 वल्र्ड कप के दौरान एक ऑलराउंडर के तौर पर उनकी जरूरत होगी।

देवदत्त पडिक्कल, नितीश राणा, रुतुराज गायकवाड़, चेतन सकारिया, वरुण चक्रवर्ती और कृष्णप्पा गौतम – छह नवोदित कलाकारों पर भी ध्यान रहेगा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button