झारखंड में पांच साल से नहीं हुई है शिक्षक पात्रता परीक्षा, अभ्यर्थियों ने हाई कोर्ट में दायर की पिटीशन

झारखंड में साल 2016 में आखिरी बार जेटेट हुआ था। उसके बाद एक बार भी इसका आयोजन नहीं हुआ है

रांची : झारखंड में पिछले पांच साल से झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेटेट) नहीं ली गयी है। इससे राज्य के शिक्षक प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके लाखों अभ्यर्थी का भविष्ट अधर में लटका है।

इसे लेकर अब डीएलएड और बीएड पास अभ्यर्थियों ने झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। बता दें कि झारखंड में साल 2016 में आखिरी बार जेटेट हुआ था।

उसके बाद एक बार भी इसका आयोजन नहीं हुआ है। डीएलएड और बीएड पास अभ्यर्थी पिछले पांच साल से जेटेट के आयोजन का इंतजार कर रहे हैं।

गौरतलब है कि एनसीटीई गाइडलाइन के मुताबिक, हर साल कम से कम एक बार टेट का आयोजन करना है।

इसके बावजूद झारखंड सरकार ने पिछले पांच सालों में एक बार भी जेटेट का आयोजन नहीं किया है। इससे अभ्यर्थियों में रोष है।

झारखंड सरकार की तरफ से इसे लेकर कोई पहल नहीं होती देख अभ्यर्थी निराश-हताश हैं।

इसी के मद्देनजर अभ्यर्थी योगेंद्र महतो, अश्विन कुल्लू और महिपाल महतो ने अपने वकील के जरिये झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर की है, जिसमें उन्होंने जेटेट आयोजित कराने की मांग की है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button