मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में कहा था- जेल में मुझे दिया जा रहा स्लो प्वॉइजन, अब…

News Aroma Desk

Bahubali Mukhtar Ansari: बाहुबली मुख्तार अंसारी (Bahubali Mukhtar Ansari) का गुरुवार को अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो जाने की खबरें सामने आ रही हैं। वह बांधा जेल में बंद थे।

गुरुवार को दिन में वह जेल में ही बेहोश होकर गिर पड़े थे, जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में कड़ी सुरक्षा के बीच दुर्गावती मेडिकल कॉलेज (Durgavati Medical College) में ICU में भर्ती कराया गया था। उन्हें उल्टी भी हुई थी।

अस्पताल में ही इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी। अंसारी की मौत का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया जा रहा है। हालांकि, मुख्तार अंसारी की मौत की दुर्गावती मेडिकल कॉलेज (Durgavati Medical College) की तरफ से अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है।

इधर, मुख्तार अंसरी के बेटे उमर अंसारी ने बताया है कि गुरुवार को दिन में भी एक बार मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ी थी। वह बेहोश हो गये थे।

वहीं मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने कहा है कि गुरुवार को दोपहर 3:30 बजे मुख्तार अंसारी की अपने बेटे उमर अंसारी से बात हुई थी। उमर के मुताबिक मुख्तार ने अपनी खराब तबीयत की जानकारी दी थी।

जेल में स्लो प्वॉइजन देने का लगाया था आरोप

बता दें कि मंगलवार को भी बांद जेल में बंद मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ी थी। उस दिन भी उन्हें रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज (Durgavati Medical College) में भर्ती कराया गया था। वहां बताया गया कि उन्हें स्टूल सिस्टम की समस्या है। वहां ICU में 14 घंटे तक उनका इलाज चला था।

उस दौरान मुख्तार अंसारी के सांसद भाई अफजाल अंसारी ने कहा था कि उनके भाई (Mukhtar Ansari) ने दावा किया है कि जेल में उन्हें दो बार खाने में जहर दिया गया है।

इससे पहले मुख्तार अंसारी ने भी कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था और इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि जेल में उन्हें धीमा जहर (slow poison) दिया जा रहा है।

वकील ने कोर्ट से कहा था- जेल में मुख्तार की जान को है खतरा

बता दें कि मुख्तार अंसारी मऊ से कई बार विधायक रह चुके थे। उन्हें कई मामलों में सजा सुनायी गयी थी और वह बांदा की जेल में बंद थे।

मुख्तार अंसारी पर उत्तर प्रदेश समेत नयी दिल्ली, पंजाब और कई दूसरे राज्यों में लगभग 60 मामले लंबित थे। अभी 21 मार्च ही को बाराबंकी के कोर्ट में डिजिटल माध्यम से हुई सुनवाई के दौरान मुख्तार अंसारी के वकील ने कोर्ट में कहा था कि मुख्तार अंसारी को जेल में “स्लो प्वॉइजन” दिया गया है और इसी से उनकी तबीयत बिगड़ती जा रही है।

मुख्तार के वकील ने Court में कहा था कि जेल में मुख्तार की जान को खतरा है।

टाइट कर दी गयी है सुरक्षा व्यवस्था

इधर, मुख्तार अंसारी की मौत की खबर के बाद मऊ और गाजीपुर समेत बांदा में सुरक्षा व्यवस्था टाइट कर दी गयी है। बड़ी संख्या में पैरा मिलिट्री फोर्स (Para Military Force) को तैनात कर दिया गया है। DGP मुख्यालय ने अलर्ट रहने के निर्दश जारी किये हैं।

हमें Follow करें!

x