चार धाम यात्रा को लेकर बड़ा निर्णय, मोबाइल यूज पर बैन, Reels बनाना मना…

Digital Desk

Mobile Ban on Char Dham Yatra : केदारनाथ-बदरीनाथ (Kedarnath-Badrinath), गंगोत्री (Gangotri) समेत चारों धामों की यात्रा (Char Dham Yatra) के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ बहुत अधिक बढ़ गई है।

इससे उत्पन्न समस्या को देखते हुए मंदिर परिसरों के 50 मीटर के दायरे में मोबाइल फोन (Mobile) के इस्तेमाल पर प्रतिबंध (Ban) लगा दिया गया है। धामों में रील (Reels) बना कर भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों के खिलाफ सीधे FIR दर्ज कराई जाएगी।

राज्य के मुख्य सचिव ने गुरुवार को सचिव पर्यटन को निर्देश जारी करते हुए आदेश का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराने को कहा है।

मुख्य सचिव ने कहा कि चारधाम (Char Dham) में इस बार पिछले सालों की तुलना में कहीं अधिक श्रद्धालुओं की भीड़ आ रही है।

इस बढ़ती भीड़ के कारण धामों में दिक्कतें न हों, इसके लिए भीड़ को नियंत्रित किया जा रहा है। धामों में मंदिर परिसर में मोबाइल से Photo खींचने, Video बनाने में श्रद्धालु काफी समय लगा रहे हैं।

इसके कारण आसपास अनावश्यक भीड़ हो रही है।

पुराने Video से भी फैलाया जा रहा है भ्रम

Social Media पर कई पुराने Video भी हैं, जिनमें केदारनाथ (Kedarnath) में 10 मई से हड़ताल वाले वीडियो सबसे ज्यादा Viral हो रहे हैं।

आगे भी हड़ताल जारी रहने की बात कही जा रही है, जबकि वहां हड़ताल खत्म हो चुकी है।

इधर, ट्रैवल द कबीरा कई दिन से केदारनाथ में हैं और लगातार अपडेट दे रहे हैं। वह 11 सौ रुपये में VIP दर्शन होने की बात का लगातार प्रचारित कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर कई पुराने वीडियो भी शेयर किए जा रहे हैं।

उन्होंने सभी परिवहन कारोबारियों से अपील की है कि ट्रिप कार्ड (Trip Card) बनाते समय यह सुनिश्चित कर लें यात्री के पंजीकरण में दर्शन का स्लॉट कब का है।

यदि दो या तीन दिन के भीतर है तो उसे यात्रा पर लें जाएं। उन्होंने कहा कि चेक पोस्ट पर परिवहन और पर्यटन विभाग के माध्यम से चेकिंग की व्यवस्था की जा रही है, इसमें यह देखा जाएगा कि ऐसे यात्री तो नहीं जा रहे हैं, जिनका दर्शन का स्लॉट बाद का है, ऐसे यात्रियों को चेकपोस्ट पर ही उतार दिया जाएगा।

हमें Follow करें!