बिहार

जीतन राम मांझी का लालू-राबड़ी पर हमला

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और ‘हम’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने लालू-राबड़ी के शासनकाल को याद करते हुए सीएम नीतीश कुमार को बेहतर बताया है।

जीतन राम मांझी ने सोमवार को ट्वीट कर इशारों-इशारों में आरजेडी पर हमला किया और कहा कि 2005 से पहले के बिहार को याद कर रूह कांप उठती है।

उनका यह निशाना सीधा-सीधा लालू और राबड़ी यादव पर था।

जीतन राम मांझी ने कहा कि हर सरकार में कोई ना कोई कमियां जरूर रही हैं लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार को बदलने का काम किया गया है।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग मीडिया की सुर्खियां बनने के लिए मुंह से ही सूबे में अपराध बढ़ने की बात जरूर करते हैं।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में कहा था कि लगता है बिहार में कानून का राज नहीं है बल्कि पुलिस का राज है।

इस टिप्पणी के बाद लालू यादव और तेजस्वी यादव दोनों ने ही ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा था।

इसके पहले लालू यादव ने ट्वीट कर एक आंकड़ा पेश किया था। इसमें अपराध के ग्राफ को लालू यादव ने दिखाया था।

लालू यादव ने ट्वीट के जरिए कहा, “बिहार में महज 120 दिनों में दर्ज हुए अपहरण के 3 हजार 565 मामले। ज

नादेश का अपहरणकर्ता ही इन संगठित अपराधियों का रोल मॉडल और संरक्षक कर्ता है।

लालू यादव और तेजस्वी के इन्ही ट्वीट के बाद जीतन राम मांझी ने पलटवार किया है और 2005 की बात कही है।

बता दें कि इसके पहले भी 2005 और लालू-राबड़ी के शासनकाल को लेकर सत्ताधारी दल के नेता हमलावर रहते हैं।

जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता ने भी कई बार लालू-राबड़ी के शासनकाल के बारे में कहा है।

Back to top button