कोरोना का फिर बढ़ा खतरा, केन्द्र ने कहा- मॉल, रेस्टोरेंट्स और धार्मिक स्थलों में सावधानी बरतें

नई दिल्ली : देश में कोरोना का प्रकोप जारी है। देश के 11 राज्यों के 33 जिलों में बीते 10 दिन के अंदर कोरोना के सक्रिय केस बढ़े हैं।

सुरक्षा के मद्देनजर केंद्र सरकार अलर्ट मोड पर है। केंद्र ने मॉल, रेस्टोरेंट्स और धार्मिक स्थलों के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। महाराष्ट्र और केरल के बाद देश के कई दूसरे राज्य भी बढ़ते मामलों का सामना कर रहे हैं।

महाराष्ट्र के कुछ जिलों में लॉकडाउन जारी है। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसिया मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसी आम सावधानियों पर जोर दे रही थीं।

देश के कई राज्यों में इन सावधानियों का पालन अनिवार्य कर दिया था। मुंबई में कोविड नियमों के पालन को सुनिश्चित करने के लिए मार्शल्स की तैनाती कर दी गई थी।

केंद्र का कहना है कि नई गाइडलाइंस 1 मार्च से लागू हो चुकी हैं।
सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त लोगों को तैनात करें।

हाई रिस्क ग्रुप में शामिल कर्मचारियों को ज्यादा सावधानियां बरतनी होंगी। इन कर्मचारियों को नागरिकों के साथ सीधे संपर्क में आने वाले कामों में शामिल नहीं होना चाहिए।

मॉल में आने वाले लोगों के अलावा सामान आपूर्ति के लिए भी आने और जाने अलग-अलग होनी चाहिए। बैठकर खाने के बजाए टेकअवे को प्रोत्साहित करे, साथ ही फूड डिलीवरी के दौरान सभी कोविड सावधानियों का ध्यान रखा जाएगा।

होम डिलीवरी के लिए तय स्टाफ की पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी।साथ ही पार्किंग एरिया और रेस्त्रां के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए क्राउड मैनेजमेंट जरूरी है।

रेस्त्रां के अंदर जाने के लिए 6 फीट की दूरी बनानी होगी। धार्मिक स्थल के अंदर आने से पहले हाथों की पूरी सफाई और थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य करनी होगी।

स्थलों पर केवल एसिम्प्टोमैटिक लोगों को ही प्रवेश मिले। वहीं, मास्क के बगैर किसी को अनुमति नहीं मिलेगी।

इसके अलावा अंदर कोरोना से बचाव से संबंधित पोस्टर लगाए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button