विदेश

अफगानिस्तान में भूकंप से तबाही, 920 लोगों की मौत

काबुल: अफगानिस्तान के दो पूर्वी प्रांतों में बुधवार तड़के आए भूकंप (Earthquake) से तबाही मच गई है। यहां इस भयानक भूपंक की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 920 हो गई है।

राज्य द्वारा संचालित बख्तर समाचार एजेंसी ने एक ट्वीट में कहा कि तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार में प्राकृतिक आपदा प्रबंधन (disaster management) के उप राज्य मंत्री, मौलवी शरफुद्दीन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा है कि भूकंप में 920 लोग मारे गए और 610 अन्य घायल हो गए।

पक्तिका प्रांत के बरमल, जि़रुक, नाका और गया जिलों से हताहतों की संख्या बताई गई। पड़ोसी प्रांतों और काबुल से प्रभावित इलाकों में हेलीकॉप्टर और बचाव दल पहुंच गए हैं।

समाचार एजेंसी (News agency) ने बताया कि गयान जिला पक्तिका में सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र था, यहां भूकंप ने क्षेत्र में कई घरों को नष्ट और क्षतिग्रस्त कर दिया और पक्तिका में जमीन खिसक गई।

हताहतों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि दर्जनों लोग अभी भी मलबे में दबे हुए हैं।

भूकंप के झटके पहाड़ी इलाकों में आ गए और अधिकारियों ने जीवन रक्षक उपकरणों और चिकित्सा कर्मियों के साथ सात हेलीकॉप्टरों को इलाके के लिए रवाना कर दिया, जबकि चिकित्सा और बचाव दल भी प्रभावित इलाकों के रास्ते में थे।

एजेंसियों को तुरंत मौके पर पहुंचने का आदेश

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने अखुंद के कार्यालय के एक ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि भूकंप के कुछ घंटे बाद, कार्यवाहक प्रधानमंत्री मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद (Mullah Mohammad Hassan Akhund) ने बुधवार सुबह एक आपातकालीन कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता की।

कार्यवाहक प्रधानमंत्री ने भूकंप के बाद जानमाल के नुकसान पर दुख व्यक्त किया है और अपने रिश्तेदारों को खोने वाले लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

बैठक ने सभी संबंधित एजेंसियों को तुरंत मौके पर पहुंचने का आदेश दिया है। प्रभावित लोगों के जीवन को बचाने के लिए सभी उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करें और सभी आवश्यक सहायता प्रदान करें।

यूएस जियोलॉजिकल (US Geological) सर्वे के मुताबिक, खोस्त से 44 किमी दक्षिण-पश्चिम में भूकंप की तीव्रता करीब 6 मापी गई है।