शिक्षा मानकों खरे किसी बी.एड. कालेज को नहीं किया गया बंद : पोखरियाल

नई दिल्ली: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार ने बी.एड. (शिक्षा-स्नातक) कॉलेजों में शिक्षा मानकों को पूरा करने वाले किसी भी बी.एड. कॉलेज को बंद नहीं किया है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने लोकसभा में एक पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि किसी भी बी.एड. कॉलेज को बंद नहीं किया गया है।

लेकिन शिक्षा मानकों और उत्कृष्टता को पूरा नहीं करने वाले कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि देशभर से कुछ बीएड कॉलेजों के स्तर गिरने को लेकर शिकायतें प्राप्त हुई थीं।

ऐसे में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने मानकों को कड़ाई से लागू किया है। उन्होंने कहा कि मानकों पर खरा उतरने वाले संस्थानों को पूरी मान्यता है।

हालांकि नई शिक्षा नीति-2020 के तहत अब 4 वर्षीय बीएड कोर्स होगा। इंटर के बाद बीएससी बीएड, बीए बीएड और बीकॉम बीएड होगा।

पोखरियाल ने कहा कि 2030 तक चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा।  ऐसे में उन संस्थानों को बंद करने की कोई योजना नहीं है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button