झारखंड

हूल दिवस पर बोले हेमंत- केंद्र सरकार मेरे खिलाफ लगातार साजिश रच रही है

हूल दिवस के अवसर पर रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के नेता हेमंत सोरेन सिदो-कान्हू, फूलो-झानो की धरती साहिबगंज जिले के बरहेट स्थित भोगनाडीह पहुंचे। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर जमकर हमला बोला। सोरेन

Hul Diwas:  हूल दिवस के अवसर पर रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के नेता हेमंत सोरेन सिदो-कान्हू, फूलो-झानो की धरती साहिबगंज जिले के बरहेट स्थित भोगनाडीह पहुंचे। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर जमकर हमला बोला। सोरेन ने कहा कि केंद्र सरकार उनके खिलाफ लगातार षड्यंत्र रच रही है। इतना ही नहीं, ये लोग झारखंड विधानसभा चुनाव समय से पहले कराना चाह रहे हैं।

कार्यकाल पूरा नहीं करने देना चाहता है केंद्र

हेमंत सोरेन ने BJP पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये लोग राज्य सरकार का कार्यकाल पूरा नहीं होने देना चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब हमने केंद्र से राज्य के बकाया पैसों की मांग की, तो मुझे जेल भेज दिया गया। अब ED-CBI और जेल-फांसी से हमलोग नहीं डरनेवाले हैं। आनेवाले चुनाव में हम ऐसा परिणाम देंगे कि राज्य के विकास की गति और बढ़ जायेगी।

हेमंत सोरेन ने कहा कि हमलोग झारखंड में ऐसा कानून बनायेंगे कि यहां की खनिज संपदा पर यहां के स्थानीय लोगों को हक मिले। ये BJP के लोग हमारे जल, जंगल, जमीन को बेच देना चाहते हैं, लेकिन हमलोग उन्हें ऐसा नहीं करने देंगे।

तेजी से हो रहा है झारखंड का विकास : चंपाई

इधर, मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन ने कहा कि महागठबंधन (झामुमो, कांग्रेस, राजद) की सरकार में झारखंड में विकास की गति तेज हुई है। 50 वर्ष से ज्यादा आयु की महिलाओं को सरकार द्वारा पेंशन दी जा रही है। युवाओं को सरकारी नौकरी दी जा रही है।

इस मौके पर सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन, JMM के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी व गांडेय विधायक कल्पना सोरेन ने सिदो-कान्हू और चांद-भैरव की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। वहीं, सिदो-कान्हू पार्क में वीरांगना फूलो-झानो की प्रतिमा का अनावरण भी किया।

पंचकठिया के क्रांति स्थल पर योजनाओं का शिलान्यास-उद्घाटन

हूल दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन, हेमंत सोरेन और कल्पना सोरेन बरहेट के पंचकठिया स्थित क्रांति स्थल भी गये। वहां विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर शहीद सिदो-कान्हू को श्रद्धांजलि दी। उसके बाद आयोजित समारोह में उन्होंने कई योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास किया, साथ ही लाभुकों के बीच परिसंपत्तियां बांटी।

x