बिहार में पिछले दो दिनों में 22 लोगों की डूबने से हुई मौत

पटना: छठ के दौरान नदी घाट और पोखर किनारे पूजा के लिए घाट बनाने और अर्ध्य देने के क्रम में पिछले दो दिनों में बिहार में 22 लोग डूब गए।

पूर्वी बिहार और सीमांचल में तीन-तीन, जबकि कोसी में छह लोगों की डूबकर मौत हुई है। उत्तर और दक्षिण बिहार के जिलों में आठ लोगों के डूबने की खबर है।

सासाराम जिले के रोहतास थाना क्षेत्र के ढेलाबाद गांव में सोन नदी में डूबकर आठ वर्षीय अमन कुमार की मौत हो गई। वहीं इसी जिले में राजपुर थाना क्षेत्र के घोडीहां गांव निवासी ¨वध्याचल शुक्ला का 15 वर्षीय पुत्र ओम कुमार छठ घाट पर डूब गया।

बेगूसराय जिले में बागमती नदी में छठ के दौरान बखरी नगर के शकरपुरा मोहल्ले के मदन रजक का पुत्र नंदकिशोर उर्फ ननकू डूब गया। पटना जिले के जानीपुर थाना क्षेत्र में बहन के घर छठ करने आए दिलीप कुमार की पुनपुन नदी में डूबने से मौत हो गई।

वहीं बख्तियारपुर में मुहाने नदी में नालंदा निवासी युगल चौधरी के 10 वर्षीय पुत्र अभिनव कुमार उर्फ नीरज एवं घांघडीह निवासी श्यामसुन्दर साव के 11 वर्षीय पुत्र सूरज कुमार की डूबकर मौत हो हुई।

बिहारशरीफ के कतरीसराय थाना क्षेत्र के बहादुरगंज में अघ्र्य के दौरान उमेश प्रसाद के 24 वर्षीय पुत्र विवेक कुमार उर्फ मोनू की डूबकर मौत हो गई।

बक्सर जिले के सिमरी तिलक राय के हाता ओपी अन्तर्गत बड़का राजपुर बांध के समीप छठ घाट पर डूबने से दस साल के बिट्टू यादव की मौत हो गई।

पूर्व बिहार, सीमांचल और कोसी में 14 लोग डूबे : लखीसराय जिले के पिपरिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत तड़ीपर गांव के समीप बुधवार की शाम हरूहर नदी में शाम के अघ्र्य देने के दौरान संत कुमार (12) की मौत हो गई।

इधर, खगड़िया जिले में अलौली प्रखंड मुख्यालय के समीप छठ घाट के निर्माण के दौरान पुरानी बागमती नदी में डूबने से अलौली के राजीव कुमार (18) की मौत हो गई।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button