झारखंड में यहां नक्सलियों ने की पोस्टरबाजी

चाईबासा: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने 28 जुलाई से तीन अगस्त तक शहीद सप्ताह मनाने का ऐलान किया है।

इसे लेकर माओवादियों ने पश्चिमी सिंहभूम (चाईबासा ) के सारंडा और सोनुवा क्षेत्र के कई जगहों पर पोस्टरबाजी की है।

पोस्टरबाजी से इलाके में दहशत है। नक्सलियों ने यह पोस्टरबाजी 28 जुलाई से तीन अगस्त तक शहीद सप्ताह मनाने को लेकर की है।

माओवादियों ने शहीद सप्ताह से संबंधित पोस्टर और बैनर सारंडा स्थित छोटानागरा थाना अन्तर्गत सैडल-छोटानागरा मुख्य मार्ग पर कई स्थानों पर लगाया।

बैनर-पोस्टर लगाये जाने की खबर पाकर छोटानागरा पुलिस ने बुधवार को सभी पोस्टरों को हटा दिया।

दूसरी ओर सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार नक्सलियों का एक दस्ता कुदलीबाद आदि क्षेत्र के जंगलों में सक्रिय था।

ऐसी आशंका है कि इसी दस्ते ने अपने समर्थकों को बाइक से भेजकर यह पोस्टरबाजी कराई है।

पुलिस नक्सलियों की तमाम गतिविधियों पर नजर रख रही है। साथ ही सभी थाना और सीआरपीएफ कैंप को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

शहीद सप्ताह को लेकर माओवादियों ने सोनुआ के अलावा भाकपा माओवादी ने टुनिया में भी पोस्टरबाजी की है।

सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस ने बैनर पोस्टर को जब्त कर छानबीन शुरू कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को रात प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन द्वारा टुनिया हाट व सोनुवा रेलवे स्टेशन के समीप स्थित वन विभाग कार्यालय में पोस्टरबाजी की है, जिसमे शहीद सप्ताह को सफल बनाने सहित अन्य बातें लिखी गयी है।

नक्सलियों के शहीद सप्ताह को लेकर पुलिस मुख्यालय की ओर से नक्सल प्रभावित जिलों के एसपी को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है।

Back to top button