क्राइमझारखंड

झारखंड में यहां जमीन के एक टुकड़े के लिए भाई ने कर दिया भाई का खून

गिरिडीह: बचपन में किसी को कोई पड़ोसी बच्चा मार देता है तो उसका भाई उससे बिना कुछ सोचे-समझे भिड़ जाता है, लेकिन भाई का भाई के लिए यही प्रेम बड़ा होने पर कौन सा रूप ले लेता है, यह जमुआ थाना क्षेत्र के तारा गांव में बुधवार की देर रात उस समय देखने को मिला।

जब पैतृक जमीन के विवाद में चार भाई आपस में ही उलझ गए। जमकर मारपीट हुई और एक भाई का खून तक कर डाला।

हत्या के आरोप में दो भाई, भतीजा और भाभी धराए

जानकारी के अनुसार, पिता ने मंझले के नाम पर 3 एकड़ जमीन कर दी थी। इसके बाद से भाइयों में विवाद चल रहा था।

इसी जमीन के एक हिस्से में धान की खेती के लिए लालजीत साव ने बीज डाला था।

बाकी तीनों भाइयों ने उसे मना किया पर वो नहीं माना। इसी के बाद विवाद बढ़ा और मारपीट में भाइयों ने लालजीत साव की हत्या कर दी।

पुलिस ने दो भाई, एक भतीजा और मृतक की भाभी को हिरासत में लिया है।

क्या कहता है मृतक का बेटा

मृतक के पुत्र अशोक साव ने बताया कि पिता लालजीत साव के तीन भाई खोसी साव, त्रिभुवन साव और मनोज साव हैं। इन तीनों, चचेरे भाई व चाची ने उसके पिता की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

इधर, त्रिभुवन साव, खोसी साव और मनोज साव ने बतया कि पैतृक जमीन की मेरे भाई लालजीत साव ने अपने नाम पर रजिस्ट्री करवा ली थी। इस जमीन में सभी भाइयों का हिस्सा है। अपना हिस्सा मांगने पर वो टालमटोल करता था।

क्या कहती है पुलिस

इधर, थाना प्रभारी प्रदीप कुमार दास ने कहा कि देर रात दोनों पक्षों में मारपीट हुई है। इसमें एक व्यक्ति लालजीत साव की मौत हो गई है। शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए गिरिडीह भेजा गया है। वहीं, इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल किसी तरफ से आवेदन नहीं मिला है। आवेदन मिलते ही कार्रवाई की जाएगी। मामले की छानबीन चल रही है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button