झारखंड में यहां बीड़ी पत्ता बनेगा ग्रामीणों के रोजगार का जरिया

इस नीलामी की वजह से कोल्हान के एक लाख लोगों को एक महीने का रोजगार मिल जायेगा

जमशेदपुर: झारखंड राज्य वन विकास निगम लिमिटेड द्वारा कोल्हान प्रमंडल के 46 जंगलों के बीड़ी पत्तों की नीलामी की जानेवाली है।

इसके लिए साल 2022 के लिए झारखंड राज्य वन विकास निगम लिमिटेड ने टेंडर भी जारी किया है। इस नीलामी की वजह से कोल्हान के एक लाख लोगों को एक महीने का रोजगार मिल जायेगा।

कोल्हान से निगम के अधिकारियों की टीम बीड़ी पत्ता कारोबारियों को आकर्षित करने गुरसहायगंज, बदायूं रामपुर, कन्नौज के अलावा मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ गयी है।

यह टीम वहां व्यापारियों को कोल्हान के गुणवत्तायुक्त बीड़ी पत्तों के बारे में बतायेगी। बता दें कि 52 पीस बीड़ी पत्ते से एक पोला बनता है। एक बैग में ऐसे एक हजार पोला होते हैं।

पिछले साल के आंकड़ों के मुताबिक, ऐसा एक बैग बनाने पर एक ग्रामीण को 1251 रुपये मिले थे। हर दिन औसतन एक बैग एक परिवार बना ही लेता है।

इससे उनकी अच्छी कमाई हो जाती है। उनकी मजदूरी के पैसे उनके खाते में डाल दिये जाते हैं। वैसे मजदूर जो दूर के इलाकों में रहते हैं, उन्हें मजदूरी की रकम नकद ही दी जाती है।

लघु वनोपज वितरण निगम लिमिटेड के प्रमंडलीय प्रबंधक मौन प्रकाश कहते हैं, “उम्मीद है कि इस बार ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण इससे लाभान्वित होंगे। रोजगार के ज्यादा अवसर मिलेंगे। कोशिश की जा रही है कि इससे ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणों को रोजगार मिले।”

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button