झारखंड पुलिस को आपदा से निपटने के लिए मिले 2 करोड़

रांची: झारखंड पुलिस को आपदा से निपटने के लिए दो करोड़ रुपये मिले हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया है कि खर्च किये पैसों की निकासी के बाद खर्च और बचत का पूरा ब्यौरा संबंधित जिले के एसएसपी और एसपी को देना होगा।

जिलों के एसपी,एसएसपी को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि पैसों की निकासी और व्यय के लिए जिला कार्यालय प्रधान या उनके ओर से प्राधिकृत पदाधिकारी जिम्मेदार होंगे।

पुलिस मुख्यालय के ओर से सभी जिलों के एसएसपी, एसपी या प्राधिकृति पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है, कि वह यह सुनिश्चित कर लेंगे कि पैसों की निकासी राज्य आपदा के मानकों और निर्धारित दरों के आधार पर हो।

इस राशि का विचलन या आवंटन दूसरे कार्यों में नहीं किया जा सकता है।

सूत्रों ने बताया है कि चालू वित्तीय वर्ष में प्राकृतिक आपदा को लेकर राहत और प्रभावित क्षेत्रों में आकस्मिक योजनाओं के लिए राशि निर्गत करने का प्रावधान है।

इसी को लेकर डीजीपी नीरज सिन्हा ने इस संबंध में आदेश जारी किया गया है।

राज्य के 24 जिलों के एसपी,एसएसपी और आईजी एसटीएफ को पुलिस बजट से यह राशि दी गई है।

आपदा से निपटने के लिए झारखंड पुलिस को दो करोड़ रुपये मिले हैं।

जिनमें रांची एसएसपी को 80 लाख, धनबाद एसएसपी, जमशेदपुर एसएसपी और हजारीबाग एसपी को 10 लाख रूपया दिया गया है।

इसके अलावा खूंटी, सिमडेगा, गुमला, सरायकेला चाईबासा, पलामू, गढ़वा, लातेहार, कोडरमा, रामगढ़, दुमका और देवघर जिले के एसपी को पांच लाख रुपये दिये गए हैं।

वही, लोहरदगा एसपी को तीन लाख, चतरा, गिरिडीह, साहिबगंज, गोड्डा, पाकुड़, जामताड़ा एसपी को तीन लाख की राशि आवंटित की गई है।

जबकि एसटीएफ आईजी को 10 लाख रुपये आवंटित किए गए हैं। सभी जिलों के एसपी को निर्देश दिया गया है, कि वह अपने जिले में कार्यरत जैप, एसआईएसएफ, आईआरबी, एसआईआरबी के कर्मियों को भी सुरक्षा उपकरण अपने जिलों से उपलब्ध कराएं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button